कल्प सूत्रम् | Kalpasootram Bhag-1

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
शेयर जरूर करें
Kalpasootram Bhag-1 by घासीलाल जी महाराज - Ghasilal Ji Maharaj

एक विचार :

एक विचार :

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

घासीलाल जी महाराज - Ghasilal Ji Maharaj के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
जो 1757 हेजल छू क,पर; (72 रा 42 » ्यि 22,007. थे 77: 5 22) >> 74425 श्र ० . न््‌्‌ ००क हम ७. 2259224050265:3 ब्न्जउस ४ 24% 4:200 22:40 00:45,दी ८“ #“1259८74,9४८६ बा । 4प्टाथडे'ह हानष्रे है 8 काश 1७६ 1707 एा-10छिश- 1छएटररे कद पकड़ एदि छड्ाप्तक 119 फद्ाक्ाद (डिकाह सदा छा कप: वेग हारे हरवाध्ादाद) वार 8 ७ छाए (शा इडेद |॥,.ब्य०पछ पहुरएी शा० ए 8 हु एुछा० मर वोच्यार ऐमधापिटो॥ शेड हाथ. जरगाह कयाद शिलण हुरत ाबर वि एएदि € हि9 (८६ 16% ॥>दाप हेड 18 कछरी फदारे वि विर्णड) पढहाढ [0-8 10? 98 एाझ 2 € किए छुड्टा। 9शिछाए] वयालढ 1 एड 0० ६ 1#8) | जान, एु४एऐ गशे हशाधार कि धह्वा८ लि. पद शक ७करि हटाबिह्॥ 1०0 (98 ह्णिछ “मुए. देश हि हु पड #हिए) एके [का वुशत कह शिक्षए टा८ 1ह७1७918 ॥269 1००७ ास्च्ट दि018रशिदिका ट्थ्ग ब्स्‍ः जाशी+ 28७1 पी चल18 ६०४ ४७ [४ 1०8७ 31६ 1९५७५: हिप इंच. €8 अधांयुर आकर 10४४8 [आ४ 2 100 (३४४ 88०8, _& पु अप. 2 हछे१ 3९% 2फ 1कुआ2, 3पककि डक जी आफ फेडे (हर 8 10% 198 ७1208 1४% (पशु. | ६ 105६ ४1208 ४३ | 118:-€(8 जेह 3फकडि ७०४ छोड़े 2४ ६ यह (1६ ७०७ ४४०७) १६६ ६ हे कि 1 [६1% 1798७ [कैके।४क ४. [18 8208 14% 1४७४ ६ 1४४ [छह । 1४ [४ 01४७ ४ हट (७. 298 |ह 1] है॥08 1४ 85%-918 ४ | हे: 2३ ऑचक६ १ 13808 श६ हेए ॥६ 10६ 00]. पल कगि >। हक 188 8 शा ७ है 3५ आ08 1४ [810 ६ [४ 91४ ७४ ४ ४8 ॥९ 1 1: है. वे 8 ४४ [फलिक ,-18% 1१98 ४४९ (६४% ४फेट| 1७ 1०७०७ 1७६,-॥ 3फ| डेए. गि ६ रद10७४ & 7करत128: 1४५010७३फ० ४४४७... ॥०४०००8७७. 8४-४०. २५४४४॥००७ ४ 10॥8|४. 288४ +कय ॥लयरेति डे ।10०205% 102ह 0] 0125 ४ | 005४2 ॥क२ 1 #मूछे-318 १ 118] (४ के 1० ४ 1५ [४2 +५1४12(४ 58/11/2218 42/2%(८2//०(४ जल ध्येरे । 1202]1ह 11७ 17281 2॥|1113801 1४४ 1 | ६ ह कर गा10४ 8॥४-०२७७ ०६७७॥६ ;४॥. ४५ २0६ सम ॥ 0:४० 1: 12172 सा७2०कि 20 1॥02 10॥0७७ &8 128 :%ि७10//मे४/सेजेक है0 ४६ [ 22210-41# 8 टी 10|! “पं:पड2




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :