श्रीं आचारांग १ | Shri Acharang १

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
शेयर जरूर करें
Shri Acharaghadsutram Bhag- I by आत्माराज जी महाराज - Atmaraj Ji Maharaj

एक विचार :

एक विचार :

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

आत्माराम जी महाराज - Aatmaram Ji Maharaj के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
रजं१ श्री खजाव्ची राम जी जेन; देहली ।२ रव० श्री आशारास जी जैन, फपूर वाले। ३ स्त्र० श्रो सन्त लाल जी जेन, छुधियाना ।४ श्री सोहन लाल जी जन, छुधियाना |५ स्व० वाबू परमानन्द जी वकील, जन, कसुर वाले ।६ श्रो गोपीराम जी जन, होश्यारपुर ।७ के श्री रोदी शाह जी जेन, रावलपिंडो वाले ।८ स्व० श्री तेजे शाह जी राबलपिडीवाले | ६ श्री शालिग्राम जी जेब, जम्मू।१० श्रो बर्शीराम चिमन लाल जी छुधियाना११ श्री नन्दलाल जी जेन, लुधियाना १२ श्री धूमीराम ऐर्ड सन्‍्जु,जालन्धर छावनो १३ श्री मंगलसेन रोशन लाल जी जेन,१४ श्री तेलू राम जी जेन, जालन्धर छावनी१५ श्री लद्धे शाह जी जेन, देहली । १६ श्री हुकमचन्द जी जेन, छुधियाना । १७ श्री रामजी दास जी जेन, झालेरकोटला ।१८ बहिन देवकी देवी जी जेन, छुधियाना ।१६ श्री व्रिज्ञायती राम जी जैन, न्यूदेहली२० वहिन सावित्री देवी जी जेन,जीरा ।२१ शी बिल्ायती राम जी सुपुत्र श्री गेन्दामत्त जी जेन, न्यू देहली।२२ श्री सावन मल जी नाहर छुधियाना।२३ श्री चरणदास जी जेन, पटियाला ।२४ श्री अमरनाथ जी लाहीर बारे, देहली५ श्री हसराज जी जन, लुधियाना ।६ बहिन महेन्द्र कुमारो जी जैन, गुडगांवा २७ श्री देशराज जी जैन, सुलतानपुरलोधी । २८ श्री मन्शीराम जी जन, लुधियाना । २६ » शिप्रप्रत्ताव जी जन, अम्पाज्ञा शहर ।न्प्ण० » वनारसीदास जी जेन, कपूरथला। ३१ ,, चूनीलाल जी जन, कपरथला ।३२ » दौलतगंम जी जेन, समराला ।३३ , वालफराम जो जेन, छुथियाना । ३४ ,, धनीराम जी जेन, सुलतानपुर लोधी ३५ » कुजलाल जी जेन, सदर वाजार देहली ३६ » प्यारेल्लाल जो जेन, छुवियाना ।३७ स्वर्गीय भ्री मुशीरास जी जेन, फरीदकोट ३८ » » खुप्रचन्द जी जेन जोहरी,देहली । ३६ ,» »+वकेशय जो जेन, लुधियाना ४० श्री अच्छुरूमल जी जेन, पटियात्ा । ४१ ,, चूनीशाह जी जेत, स्थालफोद वाले । ४२ ,, कुन्दनलाल जी जैन, रामा मण्डी । ४३ रव० श्री राधूशाह जी जेन, रावलपिण्डी । ४४ बहिन चन्द्रापति जी जेन देहली।४५ स्व॒० श्री नत्थशाह जी जेन, स्यथाल्कोट । ४६ श्रो जयदयात्र शाह जी जेन,स्थालकोट । ४७ स्व० श्री हसराज जी जेन, होश्यारपुर । ४८ श्री मोहनलाल जी वैंकर, वनूड़ ।४६ श्री हरिराम जी थापर, लधिवाना ।५० स्व० श्रो कंणत्र दाघ जी अम्रतमर । ५१ श्री मोतीलाल जो जैन जोहरी, देहली । ५२ श्रीमति हुकमदेवी जो जेन, फरीद कोट ५३ श्री सत्यप्रकाश जी जेन,फगवाडा ।५४ श्री सन्‍्तराम जी जैन; अमृतसर ।५५ श्रीसति भाग्यवतो जी जेन, छुधियाना ५६ श्रीमति उत्तमदेवी जी जैन, जम्सू ।५७ श्रीम ते द्रौपदी देवी जी जैन कपूरथला ५८ श्रीमती विष्ण देवी जैन, जेतों मण्डी |




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :