आदिब्रह्मापुराण भाषा | Aadi Brahmpuran Bhasha

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Aadi Brahmpuran Bhasha by रविदत्त शर्मा - Ravidutt Sharma

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about रविदत्त शर्मा - Ravidutt Sharma

Add Infomation AboutRavidutt Sharma

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
><&वापा का सूचीपत्र । कं -_- 1. पी कान त्रपय का इक डी हूँ ड स्य्न्रे गहा उत्पत्ति ओर सपसे बिवज्ञी भत्ता हो यह वरदान द्वे व ४ आर न 1 आर थिच से ए ज्ीका सस्वाद बणन ॥ बजीका बित्राह् बेन ॥ “दि देंवतों करके शिवजी की सलति वन ॥ ३० | पा- गी और शिव करके हिमयान का परित्याग वझन ॥ ३८५ | दक्षक़ों यज्ञ का विध्वस बणन ॥ ३८ | दह्षफा सहदछनामसें स्तृति करना ॥ ४० | गज्म्रजछेत्र का माहात्म्य बणुन ॥ ४१ | उत्कनचेत्र का वर्णन ॥ ४२ | अपन्तिझापरी बणेन ॥ ४३ | क्षेत्रदर्भन वन ॥ ४४ । पत्र ज्वत्तान्नों का बगेन ॥ ४४ | पनः च्षेत्रशन वणेन ॥ ४६ 1६ इन्दृद्यम्न राजा के प्रासाद करणका बणन॥ ४७ | क्ारुप्यलव वर्णन ॥ ४८ | इन्दूद्युग्न रानाका भगवानकी साथा थे भगवान॒का दर्शनवर्ण न ॥ ४६ | च्वेंठ शुक्त ट्वादशों मे भगवाज्े दर्शनका माहात्म्व वर्णन ॥ ४० | मभाकडेय दर्शन ज्णेन ॥ १ मज्डय जल ग्रमग दधणुन ॥ सापेडयजा विष्ण के उदर में परिवत्तेन बणन ॥ ४3३ | माकडेय करके भगवानस्तत् वर्णन ॥ 3४ , माकडेयका भगत दर्शन ब्णन ॥ _' ५१ | कृष्ण चलडेव और सुभद्रा के दर्शन का फल वर्णन ॥ ४६ | नारासंह भादत्न्य बेन ॥ ४० | घ्वेनमाघव माहइत्म्य बरणेन ॥ हर /4++००: ४८ | अमुृद्र म्नान विधि बणन ॥ - ६ | एलाबिधि वणेन ॥ ; ६० | समुद्रस्नान माहान्म्य बर्णन ॥ घर पच्रताय साचात्म्य बणन ॥ ् ६२ | भद्ठाच्येष्टो प्रशंसा वर्णन ॥ ह ६३ | हणास्नान माहात्म्य बन ४ ६४ | गुडिचाक्षेत्र माहात्म्य बणेन ॥ ६1 यात्रा फल माहत्म्य वबणन ॥ दर्द विण्लोक का कात्तेन ॥ /2#क०क ५५4) क कक ००#» 6-० ल्‍्पँ रँ (3 प, ्थ्ट पछ् ध्य | एछट *ा ५ फिि शत 1 पछस तक | एष् ध॑ #आ # ७. #ढऊ ७ हा न । ह्च्सी 10321] ए 4. «3ऊ ने शु ०! न +) ९ का /. नर स्स्द १३ शा डा श ५५ (५ क 9८ ६) है 1 ध्यड (2 ज्णट ७ ९! ध्ध्व नस च्पट | हैं। 1 #) (७ ६४91 7४५७ लॉ ५ दक 8 ९1 रत 1 ; ह् 4 उनके ऋल+-%क कमी पिकनन. न. किन ॑क-न- 40 -31-3०७+७५५००--५3७ + लेक-+3०जन-७++-+मनिनकननम 3 अजनक)- एन अलागती गा जप रे ९५) जि १ डॉ !!ै है. ७० मी ि 4 ५ १ ह्‌ं (डक शफि ३०१ | ३०२ 30४ । ३०१३ ३०५ | ३०६ है रिरि 0५ 4 प्2 न ३०६ | ३०८ ३०६ , ३१६ ३१६ | 3२१ ३3२९१ $ ३४६ ३४६ | ३३४ ३३४ | उशे८ डेरेस 38३ ३४३ | ३४१. ३४१ । ३४७ 389 | 38८ 2४८ | ३४४ ३१४ | ३४६. ३१६ | ३६९ ३६९ 13६६




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now