सचित्र महाभारत भाषा - टीका भाग - 9 | Sachitra Mahabharat Bhasha Tika Bhag - 9

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Sachitra Mahabharat Bhasha Tika Bhag - 9  by माधव शास्त्री भण्डारी - Madhav Shastri Bhandari

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about माधव शास्त्री भण्डारी - Madhav Shastri Bhandari

Add Infomation AboutMadhav Shastri Bhandari

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
विषयानुजमगिका अध्याय विपय पृष्ठ अध्याय विपय पृष्ठ, ३१. अ्रद्धात्रय-गिमाग योग का वर्णन | ४१७३ | ६७. कछुदेव के आजिभात और अवस्थिति का, वर्णेन। गीना अध्याय १७. ४१५६ | 9३३१ ४२. सन्यासयोग का वर्णन गीता अध्याय १८.४ १८५६ 8३२३४ 9३. भाष्य आदि का समरमूमि मे आना आए युधिप्रिर का उनके पास जाकर प्रणाम करना। 9४, युद्ध का आरम्म | ४५. इन्दू-युद्ध का वर्णन | ४६. युद्ध का वर्णन ! श्श्र्र ४७. उत्तरकुमार का मारा जाना । 9१९७ ४८ भीष्म के हाथ राजकुमार ज्त का मारा जाना। ४१६७ ४१७९ ४१८३ ४ प्२०५ ४९, शह्ठ के युद्ध का पर्णन | श्श्१्८ ५०. ऋीश्वव्यूह की रचना ) 9२२४ ७१. कौर का व्यूह बनाना । अरहै० ७५२. पितामह भीष्म और अर्जुन का युद्ध । ,,२३३ ७५३. द्लौणाचार्य और घुण्युश्न का युद्ध । ,,२४१ ७४, कलिज्वराज को मृत्यु | »र४४, ७५, दूसरे दिन के युद्ध की समाधि । ,,२५५९ ७५६. कौरतों का सरुड़व्यूह और पाण्डजर का अर््धचन्द्र ब्यूह रचकर युद्ध करना । 9०२६५ ७५७, सद्डल्युद्ध का वर्णन | श्श्दद्‌ ५८. पितामद मीपा और दुर्योधन कीबान-चीत ४२७० ७०, भीष्म को मारने के लिए श्रीकृष्ण का अनिज्ञ | छोइकर चक्र छेझर दौड़ना और अर्जुन का उनझो रोक छेना । श्र्छण ६०. अर्ुन के साथ भीष्म का इल्दयुद्ध। एर०र्‌ ६१, झट के पूत्र का केध ) श्श्ष्प्‌ &२, भीममेन आदि का युद्ध । ४२९९ ६३. सास्पकि और भूरिश्रश् को मिइन्त | ४३०६ ६9. दुर्योधन के साइय्ो का सारा जाना और चौथे दिन के युद्ध की समाति | ह ७. पिच्च के उपास्याव का चर्णन ) ६६. विश्वेपाप्यान का दर्णन । । ६८५ श्रीकृष्ण की स्तुति का वर्णन । । २६९, पाण्डवों का स्येनव्यूद और कौरवों का मकर- व्यूह बनाकर युद्ध करना |... ४३३६ ७०, युद्ध का वर्णन । 9929० (७१. घोर युद्ध का वर्णन । २३9०३. ५572 1७२ युद्ध का वर्णन ! न ७३. युद्ध का वर्णन | ४३५१ ७४९. पांच दिन के युद्ध की समाप्ति 1 ४३५६ ७७. ओ्रैद्वव्यूद और मकरच्यूह की रचना | ४३६० » ७६. घतरा्ट्र का खिन्न दवोना। ४३६४७ | ७७. भीमसेच और होणाचार्य के पराक्रम का वर्णन | | रे छ३६७ ७८. युद्ध का वर्णन । ४३७५ | ७९. छठे दिन के युद्ध की समाधि 1. ४३७९ 1 ८०. भीष्य और दुर्योधन का सबाद । ४३८६ * 1८१, इन्देयुद्ध। अजुनके पराक्रम का वणन। ,,३८० 1<२. दोणाचार्य के दा्थों विराठ के पुत्र शेख का ! मरा जाना । ४३९४ ८४३. द्वन्द्न-युद्ध का वर्णन 1 89०० <४, याविछिर आदि के युद्ध का वर्णन | ४४०६ <५. युद्ध का वर्णन | ४४१२ <<5. सातवें दिन के युद्ध की समाति 1 छ४१६ | ०. दोदों पक्षों की व्यूह-रचता । ४४२३ । <<- भीमसेन के हाथों दुर्योधन के आठ छोटे भाइयों का वध । छ्श्टर्छ <९. युद्ध बा वर्णन छ४श२ 5०. शनि के भारयों का और इ्रायान्‌ का बंध । हे ४४३६ ५१. दुर्योधन और चद्ोककच का मुद्ध । ०४४६ 1 2.२, धदान्कच का युद्ध । एए३९- 16३. मटेफ्च का युद्ध ३४५४९ बक-न्‍>-कु उन्‍->«+




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now