इब्नेखलदून का मुक़द्दमा | Ebnekhaldun Ka Mukadma

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : इब्नेखलदून का मुक़द्दमा - Ebnekhaldun Ka Mukadma

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about अब्दुर्रहमा खलदून - Abdurrahman Khaldun

Add Infomation AboutAbdurrahman Khaldun

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
( १७ ) ९-व्यापार की व्याख्या उसकी किसमें एव विधियाँ देर १०-किस प्रकार के लोगो को व्यापार करना चाहिए और किन लोगो को नहीं ४३३ १ १-व्यापारियों के चरित्र सम्मानित व्यक्तियों एवं उच्च पदाधिकारियों के चरित्र की अपेक्षा गिरे हुए होते है ध ४३५ १ २-व्यापारियो का एक स्थान से दूसरे स्थान पर माल ले जाना... ४३५ १३-मार को महंगाई के लोभ में भरे रखना ५ ४३६ ४-चीजो का मूल्य सस्ता होना व्यापारियों के लिए हानिकारक है. .. ४३७ १५-व्यापारियो के चरित्र सामान्यत. अन्य लोगो से घटिया होते हें और । वे मुरव्वत नही करते द ४३८ १६-कला के लिए शिक्षा परमावद्यक है ०२५ ४३९ १७-नगर के जीवन एव सस्कृति के बढ़ने पर ही कला-कौशल की उच्नति होती है क डीड० १८-नगरो में सस्कृति जितनी दुढ स्थायी एवं पुरानी होती है उतनी ही वहाँ कलाएं भी दृढ़ एव स्थायी होती है दर रे १९-कला-कौशल की जव देश में माँग होती है तो उनकी उन्नति भी होती है और उनमें नये-नये आविष्कार भी होते रहते है का ४४३ २०-नगर जब उजड़ने लगते हैं तो वहाँ की कलाएँ भी कम होने लगती हैं झपध ४७४ १-अरव लोग कलाओ से सबसे अधिक दूर रहते है क डड २२-जिसको एक कला मं कुशलता प्राप्त हो जाती है वह बड़ी कठिनाई से दूसरी कला में कुशलता प्राप्त कर पाता है के ४४६ २३-मुख्य कलाएँ बा ४ ल २४#-कृषि कक ४४७. । २५५-भवन-निर्माण कि र२६ग-वढई का काम कि २७ग-वुनाई तथा सिलाई 7 २८४-दाई का कार्य | २९#-चिकित्सा-शास्त्र हे ् ३०श-मानवी कलाओ में लिखने की कला का महत्त्व - कि ढ८




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now