श्री रामचरितमानस अंत्याक्षरी | Shri Ramcharit Manas Antyakshari

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Shri Ramcharit Manas Antyakshari by रवि रंजन गोस्वामी - Ravi Ranjan Goswami

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

रवि रंजन गोस्वामी - Ravi Ranjan Goswami

रवि रंजन गोस्वामी (आईआरएस) भा. रा. सेवा.
सहायक आयुक्त ,सीमा शुल्क (निवारक )कोचीन ,केरल
कवि एवं लेखक मूल निवास - झाँसी ,अनेक पुस्तकें प्रकाशित।
कुछ उल्लेखनीय पुस्तकें -लुटेरों का टीला ,चम्बल ,नाकाम दुश्मन ,संवाद एवं पलायन।

Read More About Ravi Ranjan Goswami

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
लेखकीय कोई भी भारतीय और वो भी हिन्दी भाषी ऐसा नहीं होगा जिसने कभी अंत्याक्षरी न खेली हो या जो इस खेल से परिचित न हो । अधिकतर लोग इसे फिल्मी गानों के साथ खेलते हैं और कुछ कविताओं के साथ । आजकल अंत्याक्षरी के अनेक रूप हैं लेकिन आसान ,पारंपरिक और सर्वाधिक लोकप्रिय तरीका आज भी वही है जिसमें एक खिलाड़ी गाने या कविता की कुछ पंक्तियाँ कहता है जिस अक्षर पर उसका गाना या कविता समाप्त होती है दूसरा खिलाड़ी उस अंतिम अक्षर से गाना या कविता शुरू करता है । श्री तुलसीदास कृत श्रीरामचरितमानस भारत का और विश्वसाहित्य का एक उत्कृष्ट और अनूठा बृहत काव्य गृन्थ है। यह भारतीय मूल्यों और संस्कारों का संग्राहक और प्रतिपादक है ।यह ग्रंथ चौपाइ ,दोहा ,सोरठा ,छंद जैसी काव्य विधाओं की मदद से लिखा गया है और इन सभी में भरपूर गीतात्मकता है । इनकी मदद से या इन पर आधारित अंत्याक्षरी भी मजे से खेली जा सकती है । इस तरह अंत्याक्षरी खेल का आनंद लेते हुए श्री राम चरितमानस जैसे महान गृन्थ का रसास्वादन कर सकते हैं । श्री रामचरितमानस अंत्याक्षरी खेलने में सहायता के लिए मैंने हिन्दी वर्ण माला के विभिन्न अक्षरों से प्रारम्भ होने वाले कुछ कुछ चौपाई ,दोहा ,सोरठा,छंद ,श्लोक इत्यादि को इस पुस्तक में संकलित किया है ।जिन अक्षरों से इस पुस्तक में सामग्री न जुटाई जा सकी उनके बारे में पाठक अन्य उत्तम साहित्य से कविताओ या गीतों की सहायता लेकर खेल सकते हैं । शुभकामनायें । किसी प्रकार की त्रुटि के लिये मैं क्षमा प्रार्थी हूँ । -रवि रंजन गोस्वामी




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now