पशिचम बंगाल और आसाम | Pachim Bangal Aur Asam

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
शेयर जरूर करें
Pachim Bangal Aur Asam by अज्ञात - Unknown
लेखक :
पुस्तक का साइज़ : 1.92 MB
कुल पृष्ठ : 82
श्रेणी :
हमें इस पुस्तक की श्रेणी ज्ञात नहीं है | श्रेणी सुझाएँ


यदि इस पुस्तक की जानकारी में कोई त्रुटी है या फिर आपको इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो उसे यहाँ दर्ज कर सकते हैं |

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

अज्ञात - Unknown

अज्ञात - Unknown के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |
पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश (देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
जा जन चौरगी की एक गली पति न हिट न ढ प का दय्य मी. 9 + व्‌ प र का 1 शह ड् हे पं थक धभ प्र ् ् का स्स जे पिय पर ९ | कि हनन ् १ ठु (है दि दी जज ह ६८. डे न प्यग् जियो व थ् हन् कान | . . कै श पे थ का 1 नस थ टी पी 6 गू रद ठै नर नोओन गैस की रोधनी से रोगन दूकाने होटल रेस्तोरां (उपाहारगृह) राह चलते लोगों का ध्यान वरवस अपनी जोर सीचने द्ू। गहर के विभिन्न भागों से हर थाम को नर-नारी इनमें आते ह। पटरियाँ सदा जनाकीर्ण रहती हैं। होटलों के घरो में किताबों की दूफाने है जिनमें विधिघ प्रकार का साहित्य मिलता है। चौरगी के सामने लॉवटरलोनी है। १६५ फुट ऊँचा यह एक प्रभावणाली स्मारक है। आवटरलोनी एक ब्रिटिय जनरल था जिनने जनेक युद्टो मे बहादुरी दिखाई और नाम कमाया था । उसी जनरल का यह रमारक हे । इसकी गेंलरियों से करकते का बटा सुन्दर दृश्य दिया देना हैं। इसके बारे में रयाल बिया जाता है कि इसका लाधार मिली ढंग का है उसके सम्से सीरियाई प्रणाली वे हे और इनझा गुम्वेज पी 1 धर




  • User Reviews

    अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

    अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
    आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :