नदी के द्वीप | Nadi Ke Deep

Nadi Ke Deep by अज्ञेय - Agyey
लेखक :
पुस्तक का साइज़ : 13.42 MB
कुल पृष्ठ : 446
श्रेणी :
Edit Categories.


यदि इस पुस्तक की जानकारी में कोई त्रुटी है या फिर आपको इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो उसे यहाँ दर्ज कर सकते हैं |

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

अज्ञेय - Agyey

अज्ञेय - Agyey के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |
पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश (देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
कद रहा था सत्य सभी कुछ दे--सभी कुछ जो है । दोना ही संत्य की एकमात्र कसौटी है | _. रेखा में ठोका लेकिन होने को तो झूठ भी है छल मी है श्रम भी हे--क्या वद्द सब भी सत्य है १ या कि श्राप होने की कुछ दूसरी परिमाषा करेंगे--पर यह कहना तो यही हुद्रा कि सत्य वह है जो सत्य है । ? नहीं सभी कुछ जो है। यानी उस में मिथ्या भी शामिल है भ्रम भी । मुझे द्रगर श्रम है तो उस का होना भी होना है श्रौर इस लिए बह भी सत्य है | श्रीर मु भूत दीखते हैं तो भ्रूत सत्य हैं यों चाहे दोते दॉयान दोतेहों। योंकहदद लें कि भूत मेरा सत्य है दूसरों का चाहे न द्दो |? स्तो सत्य बिल्कुल मुक पर श्राशित हे---व्यक्ति-सापेदय है? निरपेदा सत्य कुछ है दी नहीं ? रेखा ने द्रापत्ति के स्वर में कहा क्यों डाक्टर खुबन श्राप भी ऐसा ही मानते हैं ? ? भुवन कुछ कहे इस से पहले ही चन्द्र ने कद्दा हाँ। सत्य सापे हीहैं। निरपेन्न वद दो दी कैसे सकता है ? निरपेद् तो चीजें हैं--पदार्थ । पदार्थ सत्य नहीं है निरा पदार्थ । सत्य तो पदार्थ का हमारा बोध है--श्रौर बोघ व्यक्तिगत है | सुवन ने कहा मुझे तो लगता है कि हम सत्य श्र वस्त का भेद भूल रहे हैं। भूत हों या न हों श्रगर मेरे लिए हैं तो हैं--यानी यथार्थ हैं । पर सत्य--सत्य तो दूसरी बात है। यों चन्द्र जो पदार्थ श्र सत्य में भेद कर रहे हैं वह मैं मानता हूँ पर वह श्रधूरी वात लगती है । ? क्यों ? श्रागे और कया है? पदार्थ वास्तव का एक श्ंश है । वास्तव में श्रौर भी बहुत कुछ दाता है । विचार कल्पनाएँ घटनाएँ परिस्थितियाँ--ये सब्र भी वास्तव के द्रंग हैं जिन्हें पदार्थ नहीं कहा जा सकता--? पे कब कहता हूँ । लेकिन सत्य तो-कहा जा सकता है? चन्द्र ने विजय के स्वर में कहा यही तो मैं कह रहा था । नि है. श्दे




  • User Reviews

    अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

    अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
    आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :