श्रीमद्भगवद्गीता | Shri Madbhagavadgeeta

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : श्रीमद्भगवद्गीता  - Shri Madbhagavadgeeta

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about आनन्द गिरि - Anand Giri

Add Infomation AboutAnand Giri

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
च्छी तरह आ जाता हैं. 3 गा यहांतक करन्यास हुआ _. झ० ही कि दी कर पांचों उंगलियांसे चोटीका स्पश करत हूं ....... नित्यः सवगत स्थाणुशिति कवचाय हुम कर पी. सन __ अभ यह मंत्र पहकर दहिने हाथ बायें खबेका ओर बायें हाथसे व हे




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now