राष्ट्र भाषा का इतिहास | Rastrabhasha Ka Itihas

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : राष्ट्र भाषा का इतिहास - Rastrabhasha Ka Itihas

लेखकों के बारे में अधिक जानकारी :

किशोरीदास वाजपेयी - Kishoridas Vajpayee

No Information available about किशोरीदास वाजपेयी - Kishoridas Vajpayee

Add Infomation AboutKishoridas Vajpayee

शास्त्री - Shastri

No Information available about शास्त्री - Shastri

Add Infomation AboutShastri

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
( २४ विषय हिन्दी-प्रचार --स्वामी सत्यदेंव परिव्राजक-- “दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार-समा”--युक्त- ग्रान्त में संघर्ष ॥ १६२०-१६ ३०५ सत्याप्रह के दिनों में--कानपुर - कांग्रेस-- आचाय द्विवेदी का अवकाश-ग्रहण--श्रद्धेय टण्डन जी विषस परिस्थिति में ॥ १६.३१: १४६४० हिन्दी से क्षोम--राष्ट्रमाघा-प्रचार-समिति-- हिन्दी की जगद “हिन्दुस्तानी”--“बेगम- सीता' और “बादशाह दुशरथ”--माननीय सम्पूर्णाचन्द जी द्वारा निर्मीकता के साथ नागरी-दविन्दी का समथंन--श्रष्ट रीडरें नष्ट की गयीं--चुनाव-संघष में हिन्दी की विजय--अबोहर में “सम्मेखन' का क्रांति- कारी अधिवेशन--द* सभा० दि प्रचार सभा ने अपना नास बदल दिया--“काफी' का अथ--युक्तप्रांतीय असेम्बढी में भाषा- सम्बन्धी निर्णय ॥ १६४१-१६४६ राजनीतिक संघषे--'सम्मेखन' का जयपुर- अधिवेद्न और महात्मा जी का त्यायपत्र-- सम्मेखन' में अन्तश्संघष--रेडियो का बहिष्कार ॥ ४५8३ ४-८, ८३-६४




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now