ग्रामीण हिंदी | Grameen Hindi

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
शेयर जरूर करें
Grameen Hindi by धीरेन्द्र वर्मा - Dheerendra Verma
लेखक :
पुस्तक का साइज़ :
27 MB
कुल पृष्ठ :
68
श्रेणी :

यदि इस पुस्तक की जानकारी में कोई त्रुटी है या फिर आपको इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो उसे यहाँ दर्ज कर सकते हैं |

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

धीरेन्द्र वर्मा - Dheerendra Verma के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
अर काकरथपारतासगररामसािाविनिलधिकाम्तादकणणाणारकिासकालिए) तपिए मर लिन अल... कि ० अ दी कि पार 2 स्िपिपाएए: साथ पकपससपासकशाद तरस मरसकमसपसंए 1 क गन फ क कं दी रद, 2 ............ आमीण हिन्दीसंख्या ३ेप लाख के लगभग हो जाती हे जा स्तिटज़रलंड को जन. संख्या से टक्कर लेने लगती है। छत्तीसगढ़ी में पुराना साहित्य बिल्कुल... भी नहीं है। कुछ नई बाज़ारू किताबें अवश्य छुपी हैं; दर बिहारी उपसाषा रीह बिद्दारी उपभाषा के अन्तयत तीन ग्रामीण बोलियाँ मानी जातीहूँ--भाजपुरी, मैथिली तथा मगही.......... बिहार के शाहाबाद जिले में भोजपुर एक छोटा सा कस्बा और.. षगना है । भोजपुरी बोली का नाम इसी स्थान से पड़ा है यद्यपि यह का मोजदरों: फू दूर तक बोली जाती है । भोजपुरी .बनारस,।।ः मेज़ापुर, जोनपुर, गाजीपुर, बलिया, गोरखपुर, ... बस्ती, आजमगढ़, शाहाबाद, चम्पारन, सारन तथा छोटा नागपुर तक ... फैली पड़ी है। भोजपुरी बोलने वालों की संख्या पूरे २ करोड़ के ! गभग है । भोजपुरी में साहित्य विशेष नहीं है। संस्कृत का केन्द्र ... होने के अतिरिक्त काशी हिन्दी का भी प्राचीन केन्द्र रहा है किन्ठु/1जपुरी बोली से घिरे रहने पर भी इस बोली का प्रयोग साहित्य से कम! । . भी विशेष नहीं किया गया । काशी में रहते हुए भी. कविगण प्राचीन | हक काल सम जज तथा झ्वघी में और श्राघुनिक काल में आधुनिक साहि-. ... त्विक दी के खड़ीबाली हिन्दी में लिखते रहें हैं। भाषा सम्बन्धी कुछ साम्यों ..दा बोली. बिहार प्रान्त से सगा के उत्तर से दभगा ... आसपास बाली जाती हैं । इसम लिखा कुछ प्राचीन साहित्य भी उप-7 प्‌ हि लब्घ है। मेथिली कवियों में विद्यापति का नाम उनके पदों के कारण सबसे अधिक प्रसि




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :