सच्ची शिक्षा | Sachchi Shiqsaa

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
शेयर जरूर करें
Sachchi Shiqsaa by मोहनदास करमचंद गांधी - Mohandas Karamchand Gandhi ( Mahatma Gandhi )
लेखक :
पुस्तक का साइज़ :
20 MB
कुल पृष्ठ :
369
श्रेणी :

यदि इस पुस्तक की जानकारी में कोई त्रुटी है या फिर आपको इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो उसे यहाँ दर्ज कर सकते हैं |

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

मोहनदास करमचंद गांधी - Mohandas Karamchand Gandhi ( Mahatma Gandhi ) के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
९ तीसरा काल२२. सोलहसे पच्चीस वषके समयको मैं तीसरा काल मानता हूँ । अुस काकमें प्रत्येक युवक और युवतीको अुसकी जिच्छा और स्थितिके अनुसार शिक्षा मिले ।२३. नो वषके बाद आरंभ हनेवाली शिक्षा स्वावलम्बी होनी चाहिये । यानी विद्यार्थी पढ़ते हुआ असे अुयोगोंमें ठगे रहें, जिनकी आमदनीसे शालाका खच चले ।२४. शालामें आमदनी तो पहलेसे ही होने लगे । किन्तु शुरूके वषोमें खचे पूरा होने लायक आमदनी नहीं होगी ।२५. दिक्षकोंको बड़ी-बड़ी तनखाहें नहीं मिल सकतीं, किन्तु ये जीविका चलाने लायक तो. होनी ही. चादियें । शिक्षकमें सेवाभावना होनी चाहिये । प्राथमिक शिक्षाके लिअे कैसे भी दिक्षकसे काम चलानेका रिवाज निन्‍्दनीय है । सभी शिक्षक चरित्रवान होने चाहियें ।२६. शिक्षाकें लिभे बड़ी और खर्चीठी जिमारतोंकी - ज़रूरत नहीं है ।(२७. भंप्रेजीका अभ्यास भाषाके रूपमें ही हो सकता है. और अुसे पाम्यकममें जगद मिलनी चाहिये । जेसे हिन्दी राष्ट्रभाषा है, वेसे ही भंग्रेजीका अपयोग दूसरे राष्ट्रों साथके व्यवहार और व्यापारके छिभे है 12ज् 0 नेस्त्री -दिक्षा २८. ल्ियोंकी विशेष शिक्षा कसी और कहाँँसे शुरू हो, जिस विषयमें मैंने सोचा और लिखा है, तो भी जिस बारेमें किसी निश्चय पर नहीं पहुँच सका हूँ । यह मेरा दृढ़ मत है कि जितनी सुविधा पुरुषको मिलती है, अुतनी ख्रीको भी मिलनी चाहिये । और विशेष सुविधाकी ज़रूरत हो, वहाँ विशेष सुविधा भी मिलनी चाहिये ।




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :