मानवता अंक | Manavta Ank

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Book Image : मानवता अंक  - Manavta Ank

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about पं. श्री रामनारायणदत्त जी शास्त्री - Pt. Shri Ramnarayandatt Ji Shastri

Add Infomation About. Pt. Shri Ramnarayandatt Ji Shastri

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
> ॥ ধা ( ११ ) र४-अमुसे | ( भारतेन्दु हस्श्विन्द्रजी ) ˆ“ भ “सतके लक्षण ( श्रीमगवतरसिकी ) 1१ ५६० “दरिनामम आल्स्य क्यों १( श्रीटरिदासनी ) ** ५६४ २७-व्यथ अभिमान छोड़ दे (श्रीनारावगखामीजी ) ५७९ २८-मानव-जन्म भजन विना व्ययं श्रीसूरदासनी ) ५९५ ३९-भक्तिदीन जीवन ( श्रीनागरीदासजी ) *** ६०२ ४१-दया ( भीर्न्रीरदामस ) इ४२-जानतीना শশা € कन (न ৬৯৬ ४र-मनुप्य शगमने क्वान्य १( १ তি ४४-तीनों पन ऐसे ही यो हि ( ४एर7 7 ३1 নি बहरगे २-आउसुरी-सम्त्तिसे रक्षाक लिये मानवक्री भगवानसे प्रार्थना भीतरी मुखप २-मानवताके सरक भगवान्‌ विष्णु ˆ १ २-भरगवान श्रीकृष्णचन्द्रमे मानवताका सर्वाङ्गीण সন্ধান *** “** ४८ ४-मानवताके सशोधक भगवान्‌ शंकर *** ९६ ५-भगवान्‌ श्रीरामचन्द्रमे मानवताका महान ই ) বীলিহক লিমা ०५५ ४ ) गोमे श्र সাক ২৬৩ ^ (4 ( ( ৮৫৫ ९५ 4 শর रे ८५ -६, ~< | ५ श 3} ~ ¢. < পা ও 1 १ १ ~ >$ न्क সক! + न | ५१ ০৪৫ द ক 1 4 4 र -ॐ সপ উস এপ সর্ট ঠা बन শ্শ্‌ ] স্‌ ৮৫ ১8 ~} ५ 23, <मत गान्धर -सनिर्गीरा सदर ७ ৮80 ৮81 १0०७ 1 न 2] “च জাহগ ज *** १४४ ६-मानवताकी रक्षा करनेवाली असुरमंहारिणी दश्भुजा माता * ১: ७-विध्ननाथक श्रीगणेशजी २४० कर्मयोगी राजा जनक ˆ २८८ ९--कर्मत्यागी महर्षि यानवस्स्य *** २८८ १०-कर्मयोगी भगवान्‌ श्रीकृष्ण *** २८८ ११-परम विरक्त श्रीक्षपभ्देव *** २८८ १२---१५-आदुश त्याग और मिलन ( १) रामकां वनगमन ˆ“ * ३३६ (२) चिचकूटमे पदुकदान *** ३३६ (३ ) चित्रक््ट-मिटन * ३३६ (४ ) अयोध्या-मिटन ˆ“ ३३६ १६-कौसल्याका भरतपर स्मेह 5 इ८४ १७-सुमित्राका शन्रप्ननों आदेश १८-मदाल्साक्री पुत्रको खोरी १९-शेल्याफा पतिको प्रयोध ५ ५ त (७ श्र ০6 २०---१३-आदुर्श हिला इन्ती ० (१ ) बिपत्ति मिक्षा की (२) ब्राद्मणक्ती प्राणरक्षा (३ ) पुरो नदेग (४ ) जेठ-जेठानीके साथ वनगमन ৬ রঙ 1 ८९ ५ 9१ ৪41 ४ ५ [] ५ ०९ ৭11 ८९ „९ ९ © २४--२७-आदर्स सला--क्षादर्श गो-सेवक ४८० ४८< (१ ) ग्वाल्याल्ससा (२) सुदामा-सखा दुर्गा लाइन १-प्रहतिस द्धागारे গছ विद्वास' पी जोर ? 3 है 5 ॥। ५ ४ $ पररा श्दरगा गे १-२-दस सानउधन ३-इप्दीयों गग ~ ---<-साना-पितङ मदर (११ नग म {२ ) হাল (> देद्य नीया =-= = श १ হ } र< =. ८- १; रामरा शरा छत इसे भ न




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now