ग्रामीण अर्थव्यस्था के प्राथमिकता क्षेत्र पर संस्थागत वित्त का प्रभाव | Garmeen Arthavyavastha Ke Prathamikata Kshetra Par Sansthagat Vitta Ka Prabhav

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : ग्रामीण अर्थव्यस्था के प्राथमिकता क्षेत्र पर संस्थागत वित्त का प्रभाव  - Garmeen Arthavyavastha Ke Prathamikata Kshetra Par Sansthagat Vitta Ka Prabhav

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about सतीश कुमार - Satish Kumar

Add Infomation AboutSatish Kumar

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
क्रान्तिकारियों एवं आंदोलनकारियों ने स्वतंत्रता संग्राम के हर क्रिया-कलाप में अपना । सहयोग प्रदान किया एवं देश की स्वाधीनता के लिए बलिदान दिया उत्तर प्रदेश कं दक्षिणी भाग में स्थिति जनपद बाँदा चित्रकूट धाम मण्डल का एक जिला हे |' यह 24० 53 से 25° 55“ उत्तरी आक्षांस एवं 80 07“ से 80 34“ पूर्वी । देशान्तर के मध्य में स्थित है इसके पूर्व में जनपद चित्रकूट, उत्तर मेँ जनपद फतेहपुर, ` है पश्चिम मेँ जनपद महोबा ओर जनपद हमीरपुर, दक्षिण में मध्य प्रदेश के सतना, पन्ना ह ओर छतरपुर जिले हें । जनपद का कूल भौगोलिक क्षेत्रफल 4114.2 वर्ग कि0मी°० हे | जिसमें ग्रामीण क्षेत्रफल 4079.4 वर्ग कि० मी० है तथा नगरीय क्षेत्रफल 34.৪ वर्ग कि०्मी० हे ( जनपद का कूल भौगोलिक क्षेत्रफल प्रदेश के कुल क्षेत्रफल 240928 वर्गं | कि० मी० का 1.708 प्रतिशत तथा देश के कूल क्षेत्रफल 3287263 वर्ग कि० मी० का0. | 125 प्रतिशत है। जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों का क्षेत्रफल जनपद के कुल भौगोलिक ` षेत्रफल का 99.15 प्रतिशत है जबकि जनपद के नगरीय क्षेत्रों का क्षेत्रफल जनपद के লা জল নিশি कूल क्षेत्रफल का. 0.85 प्रतिशत है। जिले की पूर्वं से पश्चिम तक की लम्बाई 75-80 । कि० मी० व उत्तर से दक्षिण तक की चौडाई 50-60 कि० मी० हे । जनपद मुख्यालय উলকি सड़क मार्ग से कानपुर, इलाहाबाद, चित्रकूट, फतेहपुर, हमीरपुर, महोबा, झांसी एवं ` मध्य प्रदेश से लगे हुए जिलों सतना, पन्‍ना और छतरपुर से जुड़ा है। बाँदा से इलाहाबाद, | झांसी, कानपुर, लखनऊ एवं सतना के लिए रेल सेवा भी उपलब्ध है। उ० प्र० की ` राजधानी लखनऊ, वदा से 219 कि० मी० की दूरी पर है । या ১] ^ प्रशासनिक दृष्टि से यह जनपद चार तहसीलों एवं आठ विकास खण्डों मे विभक्त | हे | जिनका विस्तृत विवरण निम्नलिखित है- स्नोत : 1. जनपद बांदा को वर्ष 1998 मे प्रशासनिक दुष्ट से विभक्त कर नवीन जनपद चित्रकूट की स्था की गयी | शोध-अध्ययन मे उल्लिखित कतिपय आंकडं विभाजन के पश्चात जनपद बांदा के 2. जनपदीय परिचयात्मक एवं विकास पुस्तिका 2003-04




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now