अन्तरिक्ष में भारतीय उपग्रह | Antriksh Mein Bhartiya Upgarh

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Book Image : अन्तरिक्ष में भारतीय उपग्रह  - Antriksh Mein Bhartiya Upgarh

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about शुकदेव प्रसाद - Shukdev Prasad

Add Infomation AboutShukdev Prasad

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
अतरिक्ष अनुसधान की आधारशिला / 15 इन कार्यकमों का सचालन चार प्रमुख क्षेत्रो और उनकी सहायक सुविधाओ--सचार क्षेत्र, सुदूर सवेदन क्षेत्र, आयोजना एवं परियोजना कं ५५७४ मरि भाग गरा डिमर হাত হানা আমল हिल्‍ली भू कैंद ৮ ५ भू केक और आर एस एस ही सावनो भष पानी सेट भन हिरण राष्ट्रीप हुन्ए सरेदत एजेंसी + सके | তস্প জী বটয়ারলা বাতা ! কল হন রাস পাক পাশের ৫ बरैगार वियधत कइ যাতে হৈ বল লতি গান নিযে লি দিস ০০ अटारिक कैन्ट হছে সা অলালী ইল श एम एन बौ सवप समूह और सोफ्टवेयर प्रणाली समूह द्वारा किया जाता है । “इसरो” उपग्रह केंद्र, बगलौर इसरो उपग्रह कींद्र 18700 55461150806), অলী “শালী अन्तरिक्ष अनुसधान सयठन' के उपग्रह कार्यक्रम का प्रमुख अग है । भू प्रक्षेपण उपग्रह, एरियान पैसेंजर नीतिभार परीक्षण (एप्पल) उपग्रह और रोहिणी उपग्रह जैसी परियोजनाए इसकी कुछेक महत्त्वपूण उप- लब्धिया हैं। इस केद्र के प्रमुख भाग हैं--इलेक्ट्रॉनिकी, यात्रिकों




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now