योगनुबाद | Yoganubad

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
शेयर जरूर करें
Yoganubad by रामरमण चतुर्वेदी -Ramraman Chaturvedi
लेखक :
पुस्तक का साइज़ :
134 MB
कुल पृष्ठ :
201
श्रेणी :

यदि इस पुस्तक की जानकारी में कोई त्रुटी है या फिर आपको इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो उसे यहाँ दर्ज कर सकते हैं |

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

रामरमण चतुर्वेदी -Ramraman Chaturvedi के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
उत्साह है। उप्त के सम्पादन करने की इच्छा है उस के साधन के अनछान को अभ्यास कहते हैं ॥सतु दौषकाल नेरन्तयसत्कारासैवितो द्रढ़भूमिःवह (अर्थात्‌ अभ्यास) अगर मुदत तक किया जावे और विज्ञेप নবি आदर पूवंक किया जावे तो दढ़ होजाता है ॥




  • User Reviews

    अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

    अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
    आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :