मजमूआ ज़ाब्ता दीवानी [भाग १] | Majmua Zabta Diwani [Part 1]

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Book Image : मजमूआ ज़ाब्ता दीवानी [भाग १] - Majmua Zabta Diwani [Part 1]

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about अज्ञात - Unknown

Add Infomation AboutUnknown

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
हरिर्न মজচল্যা লাম্লা हीगनी | १५ > फच्यन मजामनि त ४ | नामीन्‌ जये गृद्रगलद घृटिश रण्विया के वाहर रहताहों | গাব ভিন ইধিহদা में फोई एजम्दन रखता हो 8२ পিছ | नागील्ल दियामनार्ये पाकेन पुलिटिक्रल्ल एजन्ट या अदालत के | ६२ ७ | तामील सिदरिन्‌ श्रफसर्‌ सकरी या मुलाज़िम रेलवे फम्प्नी या पुलाजञिप हुक्काम मोक्तापर 8३ ८ | तामील सिपाही प्र ध , « हरे २६ | फञ उस शपर्स का जिसकी हवाला सम्मन तामील के लिये क्ियाजाये নদ -6३ २० | खत दजाय सम्पमन ०००९ &३ आडर (६). पिलीडिंग असूमन , १ पिलीडिंग উঠ न তত 0 তত ৫ ন্‌ पिल्लीटिंग से वाकिआत नफ़्स रुकृदमा जाहिर होदो चाहिये | आर उसमें सबूत्त दाखिल नह है- ष 8४ ३. | श्लीडिंग के फामे. .... সঃ | ९४ € | पिलीाईडिग म दीगर जरूरी बातें भी दर्ज की जासक्ती हैं | ६४ ५ वयान व तफुसीलात खरोद उम्दा तोरसे .... ६५ ६ शते क्रदम .. নি श बन | ६४ ७ | तजवीन्न करना ^ द ... | ९५ < इन्कार निस्यत मञ्माहिदा र ` म ০০ | 8५ ং असर दस्तावेज का वयान करना चाहिये -... | ६५ ০ अदावत्त ৮০2) তি ১৩ ০২ ই ১ ६६ ~ ११ . । नोटिस; == + , न द्म क = ১৮০ “हक १२- | म्आहिंदा या तमरलुक्र का-मफहूम होन। -~~ ˆ. ~~“, | &६ ` १३२ | क्रयासिक्रानूनका ~ ০ | ६६ १४ , | पिलीडिंग पर दरस्तखत-सिन्त होगे, - - -- 1 ~~ | 6७ १४ | तसदीक पिलीरडिंग की ६७




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now