अनुप्रयुक्त सामान्य सांखियकी | Applied General Statistics

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Book Image : अनुप्रयुक्त सामान्य सांखियकी - Applied General Statistics

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about पी॰ सी॰ जैन - P. C. Jain

Add Infomation AboutP. C. Jain

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
विषय सूची अध्याय 20. सहयबन्ध तर द्विचर ग्रेजिक सहसवन्ध (वितत) बुक्षो के व्यास और आयतन के लिए तीन अरेखिक सम्बन्धो की तुलना लघु 2 ३ सम्बन्ध न हैं सबच्च हसदघ झनुतरात £ 21 सहसबंध वा प्रनेक्धा और आशिक सहसबंध प्रारम्भिक ब्यास्या सरल सहसबब अनक्वा सहसवध आशिक सहसवंध परिक्लन विधि योगफ्वा का परिकलन सम्बंध के सकल माप दा स्वतत्र चर अनक्घा सहसनत्रघ दा स्वन चर ग्राशिक सहसवब ९ 3 तैथा सकल और आशिक নত ক मापा मे सम्बंध तीन स्वनन्त्र चर अनक्धा सहसबंध तीन स्व्रतात्र चर आशिक सहसवध चार या अधिक स्वत चर अनक्धा झाशिक मृणाक अनकधा तथा आशिक सहसम्ध ब য্যাক্ষা तके एक अन्य ग्रमियम प्रथम क्रम आशिक महसम्बब गुणाक द्वितीय कम आज्ञिक सहसम्बन्ध गुखाक अनक्धा गुणाक आहलन के युखारक्ष तथा आकलन की सानक স্ুল্না स्वतन्त्त चरो के अवग ग्रसग महत्त्व के आय माप अनेक्धा वक्तरखीय सहमम्वाय बहपद सत्यतर लेखाचित्रीय विधि 461 463 464 465 469 469 470 473 474 474 477 4९0 482 483 484 487 487 488 488 458 490 491 492 492 493 493 493 493 469




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now