वार्षिक रिपोर्ट [१९७०-७१] | Annual Report [1970-71]

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Book Image : वार्षिक रिपोर्ट [१९७०-७१]  - Annual Report [1970-71]

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about विभिन्न लेखक - Various Authors

Add Infomation AboutVarious Authors

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
10 (ज) आधार सामग्री प्रक्रिया तथा शैक्षिक सर्वेक्षण एकक (ক্ষ) पुस्तकालय, प्रलेखीय तथा सूचना सेवाएँ समीक्षा सप्तिति (1968) की सिफारिशों पर सरकारी संकल्प के प्रनुपालन के अनुप्तार प्रौढ़ शिक्षा विभाग को 1 मार्च 1971 को शिक्षा तथा युवक सेवा मंत्रा- लय को हस्तांतरित कर दिया गया। इस विभाग का नाम प्रौढ़ शिक्षा निदेशालय रखा गया है भ्रौर यह शिक्षा तथा युवक सेवा मंत्रालय के अधीनस्थ कार्यालय के रूप में कार्य कर रहा है। मापन तथा मूल्यांकन विभाग को स्थापित करने का प्रश्न अभी विचारा- धीन है । 1.04 क्षेत्रीय शिक्षा महाविद्यालय : क्षेत्रीय शिक्षा महाविद्यालयों ने चार वर्षीय विज्ञान पाटूयक्रम तथा चार वर्षीय भाषा पाद्यक्रम को प्रतिवेदन वपं में जारी रखा। इन विषयों के संशोधित पाद्यक्रम तैयार किए जा रह है जिनको शीघ्र ही प्रस्तुत किया जाएगा। क्षेत्रीय महाविद्यालय के सेवा-पूर्व पाठ्यक्रम में विधि ग्रनुतार दाखिल 50 प्रतिशत विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति देने के प्रश्न पर विचार किया गया और इस অল में लिए गए निर्णय को शझ्ञक्षणिक सत्र 1971-72 से लागू किया जाएगा । ग्रीष्म स्कूल एवं पत्राचार पाद्यक्रम में दाखिल विद्याथियों की छात्र- वृत्ति रोकने का प्रन भी विचाराधीनहैग्रौर इस रांबंध में लिए गए निर्णय को शैक्षणिक सत्र 1971-72 से लागू किया जाएगा। 1.05 केन्द्रीय शिक्षा संस्थान : प्रतिवेदन वर्ष में केद्धीय शिक्षा संस्थान, दिष्ली के नियन्त्रण को दित्लौ विश्वविद्यालय को हस्तान्तरित करने का कायं पूर्ण नहो सका) फिर भी इस हस्तान्तरण को जल्दी से जल्दी पूर्णं करने के प्रयतेन किए जा रहे हैं । 1.06 रा० शै० झनु० श्र प्र० परिषद्‌ की जांच समिति ; भारत सरकार ने परिषद्‌ के संस्था ज्ञापत के अनुच्छेद 6 में निहित शवितयों का प्रयोग करते हुए तिवृत्त महानियन्त्रक रक्षा-खात्ता और मूतपूर्व संध-लोक सेवा श्रायोग के सदस्य श्री बटुक सिंह को परिषद्‌ के भर्ती नियमों और कार्यविधियों की समीक्षा के लिए नियुक्त किया । * 2. प्रदासन और वित्त 2.01 परिषद्‌ के श्रधिकारोगण : 17 मार्च 1971 तक शिक्षा तथा युवक सेवा मंत्रालय के भूतपूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रोफेसर वी० के० भ्रार० वी० राव परिषद्‌ के प्रधान थे। 18 मार्च 1971 से शिक्षा तथा समाज-सेवा के केंद्रीय मंत्री श्री सिद्धार्थ शंकर राय परिषद्‌ के प्रधान बनते। प्रो० जे० के० शुबल হথানানজ্ল संगुक्तः सचिव श्रौर भ्रध्यापक शिक्षा विभाग के प्रधात का कार्यभार संभाले हुए




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now