तीसरी शक्ति | Teesri Shakti

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : तीसरी शक्ति  - Teesri Shakti

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about जयप्रकाश नारायण

Add Infomation About

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
0 . अद्योभनीय पोस्टर ११५-१२१ देशका जावार : शील ११५, हम कहाँ जा रहे हैं ? ११५, मातत्वपर प्रहार ११६, बहने प्रतिज्ञा करें ११६, बच्चोंको क्या जवाब देंगे ? ११७, तागरिक सोचें ११५७, नागरिकोंकी आँखोंपर आक्रमण ११८, आँखोंपर हमला ११८, सशोभतीब' और अड्लील' का अन्तर ११९, अशोभनीय पोस्टर हटे विता चैन तहीं ११९, विपयासक्तिकी मफ्त और राजिमी तालीम १२०, वासनाकी यह अनिवार्य शिक्षा फोरन्‌ बन्द हो १९०। » त्रिविध काय कस १२२-१२८ सर्वोदय-समाजेका सार : सवी एकात्मता १२२, त्रिविव कार्यक्रम १२३, १. ग्रामदान ९२३, भेमते हृदयमे प्रवे १२३, ओर अधिक भदान १२४, क्रंतिकी प्रक्रिया १२४, २. खादी १२५. मदान-ग्रामदान आर उयोगन्ता तमच्वय १२५, लादीका भ्रामदानके साथ सम्बन्ध १२६, खादी : अहिसाका प्रतीक १२६, ३. शान्ति सेना १२७, शाच्ति-विचारके दीक्षित १२७, शान्ति-सेना : पंथसे परे १२७, छोकसम्भतिका निर्देशक : सर्वोदिय-पात्र १२८, निमूर्तिकी उपासना १२८। आचार्य-कुछ १२९-१६६ १. शिक्षाकी समस्या १३१, में तो ज्ञापक हूँ १३१, भारतका विक्षा-शास्त्र १३२, पातंजल योगशास्वम १३२, परमात्मा गुरुरूप १३३, शिक्षाके छिए खतरा १३३, शिक्षकके तीन गण १३४ सबके लिए एक-से विद्यालय १३५, शिक्षा-विभाग शासनसे ऊपर १३६, तालीमका पुराना ठंचा असोमनीय १३६, शिक्षाकी समस्या १३२७, रिक्षा : स्न ओर कर्मका योग १३८, मजहव ओर राजनीत्तिके स्थानपर अध्यात्म और विज्ञान १३९, छात्रोंकी अनुशासनहीनता १४९, मापाका प्रशन १४२, समौ मापाओके प्रति आदर १४२, सर्वाज्ध-दर्शन जरूरी १४३, मातृभाषाका उत्तम अध्ययन हो १४४ शबध्द-साधनिका भाषाका आधार १४४, मातृभाषा शिक्षाका माध्यम १४५, २. शिक्षासें अहिसक क्रान्ति १४७, ईश्वरीय आदेश १८७, स्वाध्याय-प्रवचन १४७, पहलेके सेता अध्ययनशील १४८ शिक्षाका काम पहले क्यो नहीं उठाया ? १४९, करुणा-कार्य १५० অনা योजनाओंकी विफलता १५१, गुरुकी हैसियत १५३,




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now