हिन्दी विश्व कोष भाग 5 | Hindi Vishva Kosh Bhag 5

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Hindi Vishva Kosh Bhag 5  by नगेन्द्र नाथ वाशु - Nagendra Nath Vashu

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about नगेन्द्रनाथ बसु - Nagendranath Basu

Add Infomation AboutNagendranath Basu

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
সা (च) निर्देशक ग्राखेटिक (_ 7०7४/४/ )--निम्त लिखित कई चेणियोंमें विभज्ष है-स्पेनोय निर्देशक € 98015 0029: ), नतन विलायतो निर्देशक ( ॥०१७॥ ग्राषाश 09जं10७' ), पोष्तगालका निर शक्र ( ?074प९ुप९४९ एणा16०७ ), फरासोधो निर्देशक ( ४५६४०) 99109] ) और डेनसाक का कुत्ता (12 &11- 19) 02 19810088180, 0 002०1 १02 )। आखेठों प- योगी पशुक्का आवास दूंढने या गुल्लिका इत पक्तौ संग्रह कारनेन वड अतिशय पटु होता हे! निर्देशक पशु वा पत्चोका सन्धान भिरगैसे उसो खान पर स्थिरभावसे खडा रहता और शिकारीक्षे जा पहचने तथा उसके इद्धित करने पर रझूगया मारनेकों चेष्टा करता है। वच्ठ पोछा कार प्चोकों सार सकता है। उसको प्राण शक्ति शौर दृष्टिशक्ति समान तोक्ष्य होतो है। वह स्पेन का भादिमवासें है। स्नोव निर्देशक कुक र कुछ _स्व,ल शोर देहभक्गो सामन्ञसयदोन लगनो हे । पोते- गालका निर्देशक कुछ इनका रहता और फरा सोसोके सुखम दोनों चन्तु तथा नादिसाके निकट एक लोडा सादा डोरा पडता है। शगालाखेशिक और स्पेनियल वा स्पनोय निर्देशक कुक्करक्षे सचयोगसे 4वविलायतो नव्य निर्देशकक्ो उत्पत्ति है। वह अति शीघ्र ग्रिज्चित छोता और एकबार सोख जानेसे फिर कभी नहों भूखता । प्राय; उसके पदस्छुटमें षत इवा करता है। कोई मोई उसके गलेमें घण्छो बांध देता है ! निर्देशक छुक्र रे साय चिद्धक ( 86४97 ) का संयोग लगा कर भो एक जातोय निर्देशक उत्पादन किया জানা है। किन्तु वह देसा काथचम नहीं डोता। डेनमाक के कुत्ते- मं प्राणशक्ति कम रहती ३। उसोखे वइ श्रस्तवलको शोभा बढानेको पाला जाता जोर पालक्षक्षो गाडोके साथ दोड लगाता है। उसके गात्र पर काले काले घब्ब होते है। ( क्ष) सं नियलोंके सध्य न्यूफाठण्डलेण्डका कुत्ता ` अति विख्यात है। वच जेंता हो रूगयापट्ु रहता बेसा हो प्रभुभश, विश्वासो, छुदशन भौर शांत खभ्नाव होता है। उत्तर अमेरिकाक पूर्वकूलवर्तों न्यूफाउण्डलेण्ड दौपके | नामपर शका नामकरण इवा है। आजकल युरोपमें | १६ उको विश्य जाति प्रायः नहीं सिलतों। सौचिदा नयुफाउण्डलेष्डोय शरोर वं सद्धर न्यू फाउण्छलेण्डोय कुछ र बिलकुल विनायतों माश्टिफको भांति सद्गुण शाज्षो है। अधिकन्तु उसको घ्राणशक्ति प्रौर दृष्टिशक्षि प्रवल होतो है | सन्‍्तरणमें भी वह वहुत अच्छा रहता है। इसोलिये वच जल स्वल सशल জাল জ্যবাহার্জী पटु पडता है। न्य,फाठण्डलेण्ड दोपमे वह ऋषिवासि- यो का बडां उपकार करता किक्तो चक्रविष्ठोन वा एकव्रा काष्शकट तोन चार कुत्ते जोत और उपपर च्वन्नानेको लको लाद देनैरे प्रनायास वडुत दूर तलं ख्व ले जाते डे। वन्य अधिवासो दसो प्रकार उन्हें शकटम जोत ग्रमादिभें क्ता वैचमे पड़ चते ई 1 उसके पढको पड़'लि जलचर जीव भांति पतल चमेखण्डसे जुडो रह्तो ई । व जलमें डुबशो लगा सभुद्र वा नदौतदवे पतित व्सुजो उदार कर सन्षता ड । खसे स्थलका प्रपेशा जलमे रहता और खेलना अच्छा लगता है। वच इतना तेब्रहष्टियक्षिविशिष्ट और छुतक्षार्य कारो रद्ता कि वखु मो जलसें गिरते हो साथ साथ कूदकर उदार करता है। उत्ता सदाल शुणोके कारणा श्रनेक नाविक एवं पोताध्यक्त जहाज ओऔर नावमें उसे पालते है। वह उक्त गुणसे नेक समय जलपतित आसन्नरूत्यु नाविक वा आरोकोके प्राण बचाता है। न्यूफाडण्डलेण्डके निकट लम्माडर नामक स्थानमें उक्त जातोव कुक्क, र श्रपेलाक्षत बडा होता है । उसे लब्नाडरका कुत्ता (1,80748007 1008 ) कहते ह 1 उसके कई ग्रेणोविभाग है--सद्धर न्यूफाउण्डलेणय्ड कुकर ( दण्डा 07 [05700980, 60ছ1001500 ०7 1.8078007/ पण ), विशु्र न्यू फाडण्डलेण्ड জহ (2009 735.710811018701)05 ) लेण्ड- शियर नव फाउण्डलेण्ड জল, (15959051199 136 णप्ण्वाभ्पत्‌ 1002 ), ন্দলী।ভবন্দা বহ্তজাল সদ (9৮. ০105 7305 0৫158090001 आखेडिक € ছাভব্ভ ) নীঘ ভুভিজ্মজিগাল कुक रोपे उसरआाखेटिक्न ( ७1०ए-0०घ४० ) या ताजोक्तत्ता बहुत विख्यात




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now