यथार्थ और कल्पना | Yatharth Aur Kalpna

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : यथार्थ और कल्पना   - Yatharth Aur Kalpna

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about राजपाल - Rajpal

Add Infomation AboutRajpal

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
कहानी-कम कहानी का नास १. आकाङ दीप (जयशकर श्रसाद') २. उसने कहा था (चन्द्रधर शर्मा गुलेरी) २. रक्षा-बन्धन (विश्वम्भरनाथ शर्मा कौशिक) “४. खूनी (चतुरसेन शास्त्री) ५. बड़े भाईसाहब (प्रेमचन्द ) ६. सम्राट्‌ का स्वत्व (रायकृष्णदास) ७. प्रेमतरू (सुदर्शन ) ८. प्रायश्चित्त (भगवतीचरण वर्मा) ९. उसकी मां (पाण्डेय वेचन शर्मा उम्र ) १० शरणागत (वृन्दावनलार वर्मा) ११. मिस्त्री (इलाचन्द्र जोशी ) १२. मिठाईवाला (भगवततीप्रसाद चाजपेयी ) १३. गोशाला (रामवृक्ष बेनीपुरी ) ~ १४. पाजेव (जैनेन्द्रकुमार ) १५. काम-काज (चन्द्रगुप्त विद्यालकार ) १६. कोटर और कुटीर (सियारामशरण गुप्त) १७. रामलीला (राधाकृष्ण) > १८. सेन ओर देव (अज्ञेय' ) १९. दु.ख (यशपाल ) “२०. टेबललैड (उपेन्द्रनाथ अदकं) २१. कत्तव्य (कमला चौधरी) २२. अपना घर (होमवती देवी) पृष्ठ १७ ३१ ४८ ६१ ६७ ८१ ८८ १०९ ११७ १३५ १४६ १६५ १७४ १८० २०९१ २१५. २२५ २३० र्ठ २५४ २७७ २८४




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now