स्वाध्याय-स्तवन माला | Swadhyay-Stawan Mala

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Swadhyay-Stawan Mala by सम्पतराज डोसी - Sampatraj Dosi

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about सम्पतराज डोसी - Sampatraj Dosi

Add Infomation AboutSampatraj Dosi

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
९१६१ १६६ ९६९७ १६९०५ १६६ २५०० २०१ ०३ २०३ २०४ २०५ २०६ २०७. २०८ २०६ २१० २११ চে २१३ २१४ २१५. नहीं तन तेरा नहीं घन तेरा नमो सिद्ध मिरंजनं नहीं सीखा तो क्या सीखा नहीं है भरोसा जरा जिन्दगी का नजर मर देखलो प्यारे न दुनिया में दिल तू नरक कर बने वही मेहमान नर नारायण बन जांयेंगा नर कर उस दिच की याद नव घाटी मांहे लटकंत श्यो नवकार सन्त है सहामन्त्र नरतन का चोला पाया नहीं वर्चा सकेगा परमात्मा नित्य शेम कमे जीवनं खात লিত मनुष्य भव पायोरे निज स्वरूप मे लीनता नित्य नित्य करू प्रणाम नेमजी की जान वणो भारी नेम तोरण परं म्नोये (प) प्यारे त्यागी वनो ` प्यारे प्रभु का ध्यान' २०१९ ०२ २०४ २०५ २०६ २०८ २०२८ २०६ २११ २११ २१२ २१३ २१४ २९५ २१६ २१७ २१६




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now