बीहड़ पथ के यात्री | Bihad Path Ke Yatri

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Bihad Path Ke Yatri by प्रेमचंद जैन - Premchand Jain

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about प्रेमचंद जैन - Premchand Jain

Add Infomation AboutPremchand Jain

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
मजुशिमा डॉ शमविनोद सिह मजुशिमा तीन दृष्टिया एक विद्यानिवास मिश्र दो गकुरासाद सिह तीन नाहिद चित्रों का सही पैनोरमा इन्हे भी इतजार है डॉ भगवतशरण उपाध्याय हनोज दिल्ली दूर अस्त॒ मध्यकालीन अतीत की पदचाप ओर वर्तमान की चीख अशोक प्रियदर्शी शिवप्रसाद सिह का कहानी कर्म॑ रो परष्पपाल सिह सामती मूल्यो के विरुद्ध अब्दुल बिस्मिल्लाह अधकूप मे नारी ভাঁ जी उषा लावण्या कहानीकार शिवप्रसाद सिह पक्षधरता का सवाल रवि रजन सतह के नीचे विद्रूप কা मून्यवान दस्तावेज ভাঁ मधु धवन अधकूप समाजवैज्ञानिक परिप्रेक्ष्य में मोहस्मद दानिश सैफी सार्थक सवेदन का सजीव रचना कौशल डॉ उमेशप्रसाद सिह कथाकार शिवप्रसाद सिह की भाषा ज कृष्णावतार करुण कीर्तिलता का महत्त्व जो रामविलास शर्मा कीर्तिलता ओर अवह भाषा राधा जनार्दन उत्तरयोगी नकार से उत्पन्न प्रतीति की उपलब्धि डॉ बी डी मिश्र उदभवकालीन हिदी भाषा ओर साहित्य के क्षेत्र मे ङो शिवप्रसाद सिह का अवदान डॉ वायुदेव सिह सत्याग्नि के स्पर्श का प्रयास उत्तरयोगी जे सुरेशचद्र तिवारी घाटिया गूजती है अत साक्ष्य का सच देवराज आमने-सामने साक्षात्कार एक डॉ प्रेमचद जैन साक्षात्कार दो डॉ सत्यदेव त्रिपाठी साक्षात्कार तीन डॉ कृपाशकर चौबे साक्षात्कार चार डॉ हरिशकर शर्मा भेटवार्ता श्री नित्यानद मैगणी ०५] 245 247 249 252 256 260 271 275 288 295 298 302 309 321 325 327 338 347 355 371 375 378 382 386




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now