संचार | Sanchar

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Sanchar by चार्ल्स ए॰ मार्शल - Charls A. Marshal

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about चार्ल्स ए॰ मार्शल - Charls A. Marshal

Add Infomation AboutCharls A. Marshal

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
10811 ६ अब 8 1 2 '24, एक तीन निकाओं वाला रंगीन टी वी कैमरा ५ एक नलिफा लाल के लिए, एय हरी फै लिए पद कि मशीन के तिश॒ह घम पे रंग एक साथ किझ्ली परे पर पड़ते हैं तो एक पूर्ण रंगीम ॥ बन जाता है। हर पंप पड ् 25. जैसाकिआप इस चित्र में देख रहे हैं रंगीन टेलीविजन का ग्राहि प्रायोगिक माइ्ल बड़ा जटिल होता है। यह में नए परिष्षों और: युक्तियों की जौच के लिए है। द्राहिच के -चाजार में बिड्री के लिए रखने से पूर्व इस प्रकार का बहुत अनुसंघान करना पड़ता है।




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now