अथर्ववेदभाष्यम भाग - 1 | Atharvavedabhashyam Bhag - 1

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : अथर्ववेदभाष्यम भाग - 1 - Atharvavedabhashyam Bhag - 1

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about क्षेमकरणदास त्रिवेदी - Kshemakarandas Trivedi

Add Infomation AboutKshemakarandas Trivedi

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
त्रिंपय सूची । पृष्ठ । रद कर कि भाषण । है १० कप का आज । 4 8-ऋषि, दिव ता, दम्द 244 जग है 8. २।| १०-मिवेदन। हे ३-अधर्ववेद । “४. ६|। (६-सूक्त,मस्त्र, चक्र | है ४-अधर्ववेद्‌ विस्तार | ७ | घूक्त विवरण, काएंड २ हा (-सूक्त भेद । & | झथर्ववेद, कागठ ३ के मन्त्र भ्रन्‍्य हि ६-अमुवाक। & घेदी भें । प्र ३ कई श्र हा 1 ७-सायणभाष्य अ्रसंपूर्ण दै। .' & | द्रवर्ववेदसाष्य फाएड २।. ४ प्-अथर्तवेद पुस्तक और बा 1 ;;.. श्वेत सूची । सह्लेत.. सद्जेत विपय॑ स्लेत सह्ठेंत विषय अ०,अथ्, € अधर्ववेद, कारड, सूक्त, | पु०ल्‍पुंखित 4 न पृषरोौ० > पपोदरादि । अव्य० <श्रव्यय | य०, यज्ञ न्यज्ञवेंद, भ्रध्याय, मर््धे | * शा० प०-अआत्मने पदी । श० क० हु० शब्द करप द्रमन्नोप, राजा “० +डणादिकरोप, पाद, सूज ( स्वामी | शधांकांन्तरेव वदाडुर विरिचित्त 1 वयानन्द सरस्वती संशोच्रित )। | शंण्स्तो०्म०नि० ्शध्िस्वोममद्ानिधि प्ला० 5 ऋग्वेद, मएडल, सूक्त, मन्‍्त्र । कोष, श्रीतारानाथ तर्कबाचस्पति क्रि० क्रिया | ; भद्टाचार्य सट्लित । जि०-त्रिलिज्न ( विशेषण )। सा०बे०< सामवेद्‌,पूर्वा्चिक, प्रपाठ क,, न०“नपुंसकलिज्ञ । ह दृशति,मन्त्र। उत्तराचिक,प्रपाठक,. नि०) निरु० *निरुक्त, अध्यायं, खएड, | अर्धप्रपाठक, सूक्त था हच | ( यास्क्रमुनि कृत) | -( )5 इस कोष्ठ में मन्त्र के शब्द हैं 1 निध० >निधरु,अध्याय,सरड,(यास्क-1 [_], ऐसे कोप फ्े शब्द्‌ व्याय्या मुनि कृत )। पा श्रध्यादार हैं । प० प०- परस्मेपदो | ०-”» अश्वन्त के भाग में पूर्व पा० #पारिनीय व्याकरण-अ्रष्टाध्यायी, मिलाकर पूरा पद का ले, जैसे : अध्याय, पाद, सूत्र | अश्विन ०-तौ ८, भश्विनो। नाक ३ इंकाकान- हर करू. ०




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now