वैद्यक - शिक्षा | Vedyak Shiksha

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : वैद्यक - शिक्षा  - Vedyak Shiksha

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about नगेन्द्र नाथ - Nagendra Nath

Add Infomation AboutNagendra Nath

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
।* विष्णु ] ( ४३३ [बम 1 | पर्ताझ्े--हिं० मैगन, 'भटा । | विष्णुक्षान्ता----हिं* विष्णु । ब७ बेगुन। क्रान्ता वाराहो-ह्वि० भेटो, मिर्शेलो | हक्षाख-हि० विपाविल सन 1 कदढन 157 हक | #>चादा॥ 'व० मसहादा। ः वापिफो-कि० बेल ' |. | हत्तमक्षिका--हि० “वृधरु ,भो बालुको--हि० बालुकों ककंडो | | तिया । हः वासक--हि० | अरुप्ता, अड्ता | हद्ददारु-छ्ि० बिधघारा। ब० । ब० बासक। !!' हचदारुक । ४ ६ - बार्साता-हि० सधुसाधवों।.. | धर्बि-+गौड, देशमें प्रसिद् । ' ५ वास्तुक्ञ-:द्वि० बधुवा ।' 'ब'० | हथिका--हि० विक्वा। बेतुया। ०7” | हथ्चिकालीो-हिण् हथिकालो। *|' व्याप्रमख-हि० व्याप्रनंख | ''| वेतस-हि० बेत।.. विवाण्टक्र-चि० इंगिया। वेब्र>छहि०. बडावित1 वेदों विक्षद़त--दिं० कटाई, कि. ल्न । पक दियी । बे ० बचा] / | वे र+हिं० बखेला। विटख्वदिए--हि० दुगर्ख खर1' ? | वेक्रान्त-हि० वैक्रान्त | 'विड्टं+हि० वायविडड्ध | ' | वैडूये--हि० बैडुय । हे >> 2 को 2 | विदांर कन्द--च्वि० विदारीकँद, | वपरिया-लब्जालू--हि० बडी जदाने विनिथाकन्द । 7 ' ल्ज्जानू। विममा--घ्वि० बिंसला |“ वन्‍्दाक इ्व बन्‍्दा, वन्‍्दाकां, विध-अहिं० ब०'बिप : | * ० छातादरा। | विपसुष्टि-हि० विंगडोडी, 'करे- | वश-हि० बास। ब०वश। |! | केश. ! ) ।' वशाइर-हिं० बासके अहर। विंदेकंन्द-“ककिण . देशमे' प्र/ | चशपत्तो--हि० बशपत्री ढूपा। सिद्द है। “आ 'वगरोचना--हि० बसलोचन | के र््क




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now