नागरिक कहानियाँ | Nagarik Kahaniya

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
शेयर जरूर करें
Nagarik Kahaniya by भगवानदास केला - Bhagwandas Kela
लेखक :
पुस्तक का साइज़ : 4.92 MB
कुल पृष्ठ : 170
श्रेणी : ,
Edit Categories.


यदि इस पुस्तक की जानकारी में कोई त्रुटी है या फिर आपको इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो उसे यहाँ दर्ज कर सकते हैं |

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

भगवानदास केला - Bhagwandas Kela

भगवानदास केला - Bhagwandas Kela के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |
पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश (देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
नागरिक कहानियाँ भ गक लावा जा या के कानों मे प्रवेश नही किया था। वह चौका । बच्चों का सिर. लडा लडाकर उनके चीखने और रोने और हाथ पेर फेंकने के बेबसी के व्यापार ने उसके बवर उल्लास को इस संमय पूरी तरह उभार रक्‍्खा था । उल्लास तो क्रोघ में परिवर्तित होगया । बबरता बनी हुइ थी । उसने मुट्रियाँ ढीली करके बच्चो की गरदन तो छोड़ दी भड़्भड़ा कर दोनो हाथ बढ़ाकर झगु को गरद्न पर सारे । भगु बेहोश होकर गिर पड़ा। सुदास का पाशबविकं व्यापार और भी बढ़ गया । वह अंकुश जानता ही न था । उसने झणु की भोपड़ी नोच फेंकी । पागलों की भांति उसकी वस्तऐ इधर उधर फेक दी । भोपड़ियो से से और लोग निकल कर बाहर भकॉकने लगे भ्रगु की उस दारुख व्यथा आर अवस्था को देखकर वे रो पड़े । उसका प्यारा भोपडा उन्होंने अपनी आंखों से उजड़ता देखा । उन्होंने देखा कि सुदास इतना भारी काम करके भी इठलाता हुआ धीरे धीरे उनकी आंखो के सामने से जंगल मे. ओोकल होगया । भ्रणु की दुरवस्था की खबर सारे समूह मे फल गई । बालक-बच्चे खी-पुरंष सब उसे देखने जुड़ आये । और उस दिन पहली बार उन लोगो ने अजुभव किया कि हमे दूसरे की हानि से दुःख होता है । और ऐसा आदमी जो दुःख प्रहुँचाता रे अच्छा नहीं । उन्होने सोचा कि सुदास को ऐसा व्यवहार बच्चो और भझणु के साथ क्यो करना चाहिये? उसकी भोपड़ी और चीजों को उसने इस श्रकार क्यो तोड़ फेका ? झ्रणु ने क्या बिगाड़ा था वह सीधा-सादा भला आदमी उसने क्यो सताया




  • User Reviews

    अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

    अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
    आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :