संस्कृत साहित्य का इतिहास भाग 2 | Sanskrit Ka Sahitya Itihas

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Sanskrit Ka Sahitya Itihas by कन्हैयालाल पोद्दार - Kanhaiyalal Poddar

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about कन्हैयालाल पोद्दार - Kanhaiyalal Poddar

Add Infomation AboutKanhaiyalal Poddar

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
प्दिि द्ष्ठ अलड्वारों का वर्गीकरण १३९ रीति सम्प्रदाय 3०0०० ९४४ गुर्ों का महत्व १४५ गुणों का लक्षण १४६ वामन का मत १४४ गुणों की संख्या १४५ वामन के मत का खण्डन १५० काव्य में गुण क्या पदार्थ है १५२ मम्मट के मत पर विश्वनाथ की आलोचना और उसका खण्डन १५८ रीति १६० रोतियों की संख्या १६० रीतियों के नाम १६९ वामन के रीति-सिद्धान्त का खण्डन १६३ चक्रोक्ति सम्प्रदाय 80000 १६६ भामह का मत १६६ दण्डी का मत १६८ ध्वनिकारों का मत १६९ महाकवियों द्वारा वक्कोक्ति का श्रयोग १७० अभिपुराण और महाराज भोज का मत १७१ वामन का मत १७३ वक्रोक्ति और कुन्तक १७५




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now