स्वर्ग का विमान | Swarg Ka Viman

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
शेयर जरूर करें
Swarg Ka Viman by अमृतलाल सुन्दर जी - Amritalal Sundar Ji
लेखक :
पुस्तक का साइज़ : 9.89 MB
कुल पृष्ठ : 458
श्रेणी :
हमें इस पुस्तक की श्रेणी ज्ञात नहीं है | श्रेणी सुझाएँ


यदि इस पुस्तक की जानकारी में कोई त्रुटी है या फिर आपको इस पुस्तक से सम्बंधित कोई भी सुझाव अथवा शिकायत है तो उसे यहाँ दर्ज कर सकते हैं |

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

अमृतलाल सुन्दर जी - Amritalal Sundar Ji

अमृतलाल सुन्दर जी - Amritalal Sundar Ji के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |
पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश (देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
१८ पिपयाठुकमणिका । न विपय. पूर्ठांक १९३० यह संसार एक यात्रा है हमारा घर दो इंश्वरकें दूर बारें है और दालिं घरमें हैं इससे घर पहुँचमेंकी उतावली क्रो कक कि न्म्स असम १३७ २२९ परमेश्वरके दरवारमें शुम्हारी दिदत्ता नहीं मुठ जायगी वहां तो तुम्हारी भक्तिद्दी पूँछी जायगी १३८ ९९२ भाइयों भविष्यतके संकटोको याद करके इुश्ख़का चोझा मत वढाओ भब्यभ बम ०० रु ४० २२३ लड़केके भी लंडकॉकी चिंता करके बा क्यों दुश्सी होते हो ? प्रश्ुकी इच्छाके अधीन होजाओ तो न दुश्ख अपनेही आपही कम हो जायँगें.. पा १२४ डुम्खसे दुःख़ित मत दो समुद्र उतार और चढावकी तरब दुःख और सुख मी जितनी तेजीसे आते हैं उतनीदी तेंजीसे चले भी जाते हैं... .. ...... ० रहे २९५ जूतेंम कंकर भरजानेसेददी जब दम आगे नहीं चछ सकते तब हुदयमें पाप भरे रह नेसे इःवरीय मार्ग केसे चढा जा सकता है. न... .... २४८ २९६ मरे पीछे हमारे हारे सोती और भोगविलास काम नहीं अबेंगे केवरू धर्मदी तब काम जावेगा... .... १४ श२७ इम समुद्रका माग॑॑ नहीं जानते त्तरत मी कप्तानपर विश्वास करके जद्दाजमें सवार होते हैं वेसेदी ईश्वर- पर विश्वास करके मक्तिरूपी जद्दाजमें बैठ जाओ ८... १४७ १९८ जैसे तिल तेरु दे पररहु दवानेसे निकठता दे मैसेदी हमारे हुद्यमें सक्ति है सो मगवत्तेवा करनेसे बढती हैं. १४. १२९ बकीलकों अपना सुकदमा सोंप देते दो उससे तो इंश्वर अनंतगुना समर्थ दे तव इश्वरपरददी क्यों + नहीं छोड़देते नम भन न रडं न




  • User Reviews

    अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

    अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
    आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :