हिन्दी बीज गणित bhag - १ | Hindi Biz Ganeet Bhag - 1

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Hindi Biz Ganeet Bhag - 1  by मोहनलाल - Mohanlal

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about मोहनलाल - Mohanlal

Add Infomation AboutMohanlal

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
चीज दा ता लत दा उसे गिनेगा मार मानो कि उतते उधार यें क॑ सपये स्नेने लें पाश संदर्श धन इप+ क होगा परन्तु उसे कुध | रुपया देना भी है न्वोर थे धन से कम हैं शोर उसका मान - गुजआनो सो के पास शेय धन से रेंके च्संत्कनग चचेगा रो सं थ नस सुपये देने दो गे तो उस | के पास कुछ न बचेग। परन्तु जित्तना कि च्ंण धन छे पाधि | क दोगा उतना शेघ कण उसे सौर सुकानां होगा तौर पाद.रदरवो कि जवकेवल राशि के चिन्द्ु का वर्णन दो नो + या. -- चिन्द जानो शोर ममगी कि सार धन है दा बह ॥ | बम हा ९ बीज गणिव किसे झरते दर उसका भयोजन क्या ॥ ं २ रशिवा दया हू ३0 बीज गणित में शा शिये के स्थान में सार क्यों लिखने ४ य बन के दसका या सर्थ दे क्या ९५ इंसका हेकि दो में पांव जीडे लायगे॥ .. . .. ३ नसंक गणित में मर क्या है जोर बीज गणित में चपक इसक । वया बपर्य हैं ॥ ं ९६ कैसी राशि के स्थान में ३०स लिखास में राशि डी है. १3७9 जो +्स ९ के दे क २के तुल्य नौ गे तुरुप है बताच्यों कि. बस क ग ९९३ के होगा वा नदी पार . उसके तुल्य न दे वी किस के तुर्य हो ८ च्संक गणित में ५ २. दस का क्या स्पें दे और जो.




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now