नय | Naya

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Book Image : नय  - Naya

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about श्री पं. माधवराम अवस्थी व्यास - Shri Pt. Madhavram Awasthi Vyas

Add Infomation About. Shri Pt. Madhavram Awasthi Vyas

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
( हद ) रखा गया था । सभा में विधवा विवाद समर्थक पं० रामसेत्रक शास्त्री व्याकरणाचाये, प॑ ० भदेव शास्त्री विधा- लंकार, पं० लदमीनारायण शास्त्री लखनऊ तथा उर के एक पंटित विद्यमान थे । दूसरे दिन ४।८। ९८ को कह प्रस्तावों के पढिले हो यह विचार कर कि जिसमें दो बजे वाली गाड़ी से कानपुर की जनता तथा पश्डित मएडली न झा पावे श्र विधवा विवाह प्रस्ताव पास हो जाय पेश कर दिया । भदेव विद्यालंकारादि तीन समर्थकों ने उसका खब समर्थन किया इनके उपरान्त जिस सपय पं० दुगाचरण शास्त्री ज्योतिषाचायं विद्यारत्नजी ने सभा में खड़ होकर अपने वेद शास्त्र के मखर प्रमाणों से गंभीर नाद करते हुए वक्तता दी है सब जनता मुख्ध हो गई, समयकों के होश हृवाश बिगड़ गये । सब को निश्चय हो गया कि विधवा विवाद शास्त्र विरुद्ध दै और इस सभा के सभासद विद्वान मददापाप श्र घोर अन्याय करते हे। पं० रामसेवकनी शास्त्री दो बज की गाड़ी से उतर सभा में गये साथ ही श्रीमान_ पं० शंकरदयालजी शास्त्री व श्रीमान पं ० बद्रीनारायणजी शास्त्री तकवागीश व श्रीमान पणिडित चंद्रशेखरजी शास्त्री अग्निहोत्री व श्रीमान्‌ प॑ ० केशवदसजी शास्त्री कविरत्न इत्यादि इत्यादि महानुभावों को देखतेददी उक्त शास्त्रीजी का हृदय कषपित हो गया । सभा में बोलने को खड़े तो हुए पर उस सभा वालों से दी पूछ लीजिये, कंठावरोध




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now