हिंदी व्याकरण एंड रचना बोध | Hindi Vyakaran And Rachana Bodh

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : हिंदी व्याकरण एंड रचना बोध  - Hindi Vyakaran And Rachana Bodh

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about डोक्टर स्वर्णलता अग्रवाल - Docter Swaranlta Agrwal

Add Infomation AboutDocter Swaranlta Agrwal

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
वाक्य में प्रयुक्त में और वह पुल्लिंग है और थे दोनों वाक्यों के मे और वह स्त्रीलिंग हैं । अभ्यास सम्वन्धवाचक सर्वनाम का प्रयोग किस वाक्य में हुआ है ? क जैसा वोयेगा बैसा काटेगा वि तुम अध्ययन करोगे तो विद्वान वनोगे । ग बहू परसों आया था और चला गया । घ बहू वया है और यह वया है ? ड कोई यहाँ कल आया होगा ? ये यह कहाँ से आता है ? इस वाक्य में यह शब्द कौन सा सर्वनाम है ? क प्रश्नवार्चक ख निश्वयवाचक ग सम्बस्धवाचक छु -पुरुपवाचक ड भनिश्वयवाचक कूँ .उ नीचे लिखे चाकयों में सर्वनाम शब्दों को रेखांकित करो -- तुम कोई भी हो मुझे इसकी परवाह नहीं है । र-आापनि इतना कप्ट क्यों किया ? व-मे अपने आप से ही यह प्रश्न करता हूँ कि में कीन हूं ? ४--यहाँ कौन जायेगा ? श्र--वह पुस्तक किसने पढ़ी है ? नीचे लिखे वाक्यों में काले टाइप वाले शब्द सर्वनाम हैं । प्रत्येक वाक्य के सामने कोप्ठक में सर्वनाम का भेद लिखिए-- १--मैं भारत का निवासी हूँ । रूप २--सत्य से कोन मुह मोड़ेगा । क सकने ३--वह पुस्तक मेरी है । पु कफ इ--जो करेगा सो भरेगा १ | च्लतकेप्त शु -शीला अपने घर ययी । पिखिज वे हम तुम मैं हमारी तू वह उनको उन्हें-पुरुपदाचक सर्वगाम हैं । इनमें से उत्तम मध्यम एवं अन्य पुरुप सर्ववाम मलग-अलग छाँट कर नीचे लिखो--




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now