वैष्णव भक्ति आंदोलन का अध्ययन | Vaishnav Bhakti Aandolan Ka Adhyyan

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Vaishnav Bhakti Aandolan Ka Adhyyan by मालिक मोहम्मद - Malik Mohammed

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about मालिक मोहम्मद - Malik Mohammed

Add Infomation AboutMalik Mohammed

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
विषय का सीमा-निर्धारण १५ कारण केवल धर्म का ठेका उच्च वं के मल्पसंस्यको केषहाष मँ ही रहा । जब जैन और बौद्ध घर ब्राह्मणके विरोधनं जन-साधारण के बद्वमत को तेकर चलते ये और फिर जय बे भी के क्षेत्र में उत्पन्न हुई । इसी युग में घामिक क्षेत्र भे मागवत धरम को जन-साधारण के लिए उपयुक्त तथा धर्म ङे साधन-पस को सर्वसुलभ और आकर्षक बनाने के साथ ही व्यापक क्षेत्र में सुधार लाने की मांग हैई | इसी युय की भावदयक्ताफी पृत्तिके लिए हो देशिण (सर्यात्‌ पेमिल-प्रदेश) केः मालवार +~ ~. भान्दोलन-ह्पी ^ ~ # ने गौर नायनमा * ,१,५-१।५ कां सर्वसुलभ बनाने के पाय दही शास्यो, भाक्त को भावमूतक रूप प्रदान किया । भक्ति-भावना के इतिहास में यह सर्वाधिक महत्वपूर्ण पटना थी । “भंदोलन” शब्द की यथार्थता रफामं) का नाम हि ची शबद शूर का अर है डुछ व्यक्तियों सा व्यक्ति-्समूहो द्वारा कसी विशेष उदय की उपतन्यिके सिए किया जाने वाला भयतन । इसके अन्यान्य के किसी की




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now