सपनों का कैदी | Sapano Ka Kaidi

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Sapano Ka Kaidi by कृष्ण चंदर - Krishna Chandar

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about कृष्ण चंदर - Krishna Chandar

Add Infomation AboutKrishna Chandar

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
टैस्ट के लिए फिल्म का एक सीन प्रेमलता को याद करने के लिए दिया गया और तीन दिन के बाद स्कीन टेस्ट रखा गया। तीनों दिन रोड शाम के वबत विमनमाई भौपड़े में मदन और प्रेमलता से मिलते के लिए आता रहा और काजू पीता रहा, और उन दोनो का हौसला बढ़ाता रहा। तौसरे दिन चिमनभाई ने मदन से कहां, आज स्क्रीन टेस्ट हैं। मैरी मानो तो तुम आज प्रेमलता के साथ न जाओ। 'क्यों न जाऊं ?? “इसलिए कि अगर तुम साथ गए तो प्रेमलता फ्री ऐक्टिंग मं कर सकेगी | तुम्हे देखकर धरमा जाएगी और घबरा जाएगी, और अगर प्रेमतता घबरा गईं तो स्क्रीन टेस्ट मे फेल हो जाएंगी ।* कैसे फैल हो जाएगी ? ' मदन शराब के নহা भ॑ कल्ताकर बोला, मेरी बीवी ससीम, सुचित्रासेन, मधुवाला से भी खूबसूरत है। मेरो बीवी एंलिज्ञाबेय टेलर से भी ज्यादा खूबसूरत है। मेरी बीवी नरगिस से बेहतर ऐक्ट्रेस है। मेरी बीवी किसी स्क्रीन टेस्ट में फेस गही हो सकती । मेरी दीदी**** मवे सलि, बीवी नहीं, बहन बोच बहन,” चिमनभाई हाथ चलाते हुए जोर से बोला 1 “अच्छा, वहन ही सही,” मदन शराब का जाम खाती करते हुए गोला । 'जैता तुम बोलोगे चिमनमभाई, दैसा ही मैं कला । आज तक तुम्हा री कोई बात टात्ी है जो अब दालूगा ! से जाओ, मेरे भाई, अपनी बहने को तुम हो आज स्क्रीन टेस्ट के लिए ते जाओ। मगर हिंफाजत्र से पहुचा देवा ।/ श्ाव्री रो । अपनी गाड़ी में तिकर जा रहा हु, अपनी गाड़ी मे लेकर आजमा! बढुत रात गए प्रेमलता स्कीन टेस्ट से प्रोड्यूसर की गाड़ी में लौटी । उसने वही साडी पहन रखी थी जो स्कोन देस्ट के लिए इस्तेमाल की गई थी और उसके मुंह से शराब की बू आ रही थी । मदन गुस्से से पायल हो गया, 'ठुमने धराव पी ? १३




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now