भारतीय संविधान का प्रारूप | Bhartiya Sanvidhan Ka Prarup

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Book Image : भारतीय संविधान का प्रारूप - Bhartiya Sanvidhan Ka Prarup

एक विचार :

एक विचार :

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about अज्ञात - Unknown

Add Infomation AboutUnknown

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
झनुच्छेद एण, ८६. ८७. ০০ ४८६६. ९०. ६१. ६२. ९.३. ९४, ६.५. ६६. ६७. ६८. ६६. १००. १०१ १०२. १०३. १०४. १०४. १०६. १०७. १०८. १५६. ११०. सदस्यों के विशेषाधिकार और विमुक्तियों सदस्यों के विशेषाधिकार, श्रादि सदस्यो के वेतन तयां श्रचिदेय विधान कार्यप्रणाली विधेयको के पुर स्यापन तया पारएु विषय माचधानं कुछ अवस्पाओ में श्रागारो की समुकत बैठक सुद्रा-वियेषक विषयक विशेष कार्यभरएएली भुद्रा-विधेयको को परिभाषा विधेयको पर अन्‌मति श्राथिक विषयो में क्वाय॑-प्रणाली वाधषिक आर्थिक विवरण *** ए ससद्‌ से श्रागए़ना-विषयक कार्य-प्रणाली प्राधिक्ृत व्यय की श्रनुभुची का प्राभाणिकन व्यय के श्रनुपुरक़ विवरणा ..* *** श्रतिद्यावी अनुदान 1 কা राक विघेयको के लिये विशेष प्रावधान सामान्य कार्य-प्रणाली कार्य-प्रणाली के नियम. ««« রি ससद्‌ से प्रयोक्‍तव्य भाषा ..« ड ससद्‌ मे पर्यालोचन पर श्रायत्रण॒ =... संसद्‌ कौ कार्येवाहियो की न्यायालय परिपृच्छा न करेगे अध्याय ३.--प्रधान की विधाषिनी शक्तिया संसद्‌ के विश्वान्तिकाल सें श्रव्यादेश के प्रवर्तंत की प्रधान की शक्ति अध्याय ४,--सघ का न्याय-भडल सर्वच स्यायालय की स्थापना त्तया सघठन न्यायाधीशों के वेतन श्रादि ৬ स्थानापन्न सुझ्य न्यायाधोश की सेवायूक्ति एतदर्थ (एडहाक) न्यायाधीशों की नियुक्ति सर्वोच्च न्यायालय का स्यान ৬ কও ७०९ কও सर्वोच्च न्यायालय का प्रारम्भिक अधिकारक्षेत्र ... विशेष श्रवस्थाश्नो में राज्यो के उच्च # 9 ® # 9 # ® सेवानिवृत्त न्यायाधीरषो कौ सर्वोच्च न्यायालय की वैष्को में उपस्थिति. न्यायालयो से पुनविचार प्रार्थना पर सर्वोच्च न्यायालय का पुर्नावचार क्षेत्राधिकार-. पुष्ठ २१ २६ २६ २७ एण एण २६ २६ ३० ३० ३१ ३१ ३१ ३१ ३२ ३२ ३२ ३३ ३४ ३ द ३५ २५ ३९




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now