आधुनिक तेलुगु कविता प्रथम भाग | Adhunik Telugu Kavita Pratham Bhaag

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : आधुनिक तेलुगु कविता प्रथम भाग - Adhunik Telugu Kavita Pratham Bhaag

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about चावलि सूर्यनारायण मूर्ति - Chawli Suryanarayan Murti

Add Infomation AboutChawli Suryanarayan Murti

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
काव्यानुक्रमणिका ओरी गुरजाड अप्पाराव--(मुल कवि) 1. सनिषि--अनु ः श्री एम. रंगय्या १ 4. देशभक्ति--अनु श्री दुव्वरि रामकृष्ण मृति 9 श्री कर्खमचि समलिगा रडिड- (मुल कवि) 1. ‹ मुसलसम्म मरणमु ' से--अनु : डा. चावलि सृथेनाराषणमूति श्री वेक पावेतीश्वरकवुलु-- (मुल कवि) 1. “एकांत सेवा ' से- अनुः श्री बालशौरि रेंडिड «०० श्री रायप्रोल वेकट सुब्बाराव--(प_ुल कवि) 1. जन्मभूसि--अनु : डॉ. पी. आदेश्वर राव कप 2, विरह वीथी--भनु : डां. चावलि सूयेनारायण मृति 8. प्रबोधसु --अनु : श्री रपति सू्थेनारायण 4 अमलिन प्रेममु-अन्नु : श्री रापति सर्यनारायण श्री शिवकर स्वामी- (मूल कवि) 1. बांछलु--अनु: श्री रापति सूर्यनारायण ००० 2. संदशेनमु--अनु : श्री राषति सयनारायण 8. विश्रममु-अनुः श्री रापति सूयेवारायण श्री पिगदि-काटूरि- (मूल कवि) 1, उपहारमु--अनु : श्री हनुमच्छस्त्रीं अयाचित ००५ 2. रसालमु--अनु : डँ. चावलि सयनारायण मूति ०० श्री माधवर्षेद्दि बुच्चि सुदरणाम शास्ती-(सूल कवि) 1. * भृत्युंजया --अनु : डॉ. इ. पांड्रंगाराव * ०० श्री कवि कॉण्डल वेंकुटरशाव--(मुल कवि) 1, शिवरात्रि प्रभा--अनु : श्री कोट सूंदरराम शर्मा श्री विश्वनाथ सत्यनारायण (मूल कवि) 1, कॉण्डवीटि पॉगसब्बुलु--अनु : श्री सूरयेनारायण * भानु ! 8. मृग नोमु--अनु : डॉ. चाकलि सूर्यतारायण मूर्ति রঃ पृष्ठ मूल-अनु 278 4-6 12718 16-17 24-28 . 80-81 8485 44745 49-40 50-51 52-88 58.51 6081 66-87 14.15 80.51




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now