भाषा विज्ञान | BhashaVigyan

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
BhashaVigyan by डॉ रामकुमार वर्मा - Dr. Ramkumar Varma

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about डॉ रामकुमार वर्मा - Dr. Ramkumar Varma

Add Infomation AboutDr. Ramkumar Varma

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
... (न) शालाएँ [श४] पाली (क) कात्यायन (खि) मोग्गलान [ग)) अग्गवंस [१४] (क) प्रतीच्य शाखा ' हेमचन्द्र (ख) प्राच्य शाखा वररचि [१६] व्याकरणेतर ग्रत्थों में भाषा-विषयक अध्ययन (क) नैयापिक (ख) साहित्य (ग)) मीमांसक तर भाघुनिक अध्ययन १. विशप काल्डवेल २. जान वीम्स दे. डी० ट्स्प '४ एस० एच ० केलाग ५. डॉ० सर रामछृष्ण गोपाल भरडारकार ६, डॉ० ए० रूडट्फ हार्नली ७. जारज॑ अन्नाहम प्रियर्सन ८. रेतफ लिले टर्नर €. जूल ब्लाक १०. शेप विद्वाद्‌ और उनके ' प्रधान विषय (क) सूल भारोपीय भाषा संस (ग) पाली प्राकंत तथा भपभ्न दा (घ) अवेस्ता आदि ' (ड) बंगाली (व) उड़िया ( २५) भर भर श्र नर, २५ श्र ५२५ २४ भ२५ ५२६ ६ र६ शरद भ२६ श्र २७ ५२७ ५२७ श२७ श्२७ भ्र्८ शरण श्र्‌प भ२६ श्र शर६ २६ ५२६ ३० (छ) चेपाली (न) असमी सिंधी पंजावो, कश्मीरी तथा दरद आदि ५३१ मराठी गुजराती ३१ द्रविड़ श्र सिंहुली शुद३२ हिन्दी श्देन्‌ वर्तमानकालिक प्रदृत्तियां'.. दे [ि] चीन . देश [गि] जापान ५३७ [घ] अरब ३५ हि] यूरोप श३६ [छ] प्राची १ सुकरात ३६ २. प्लेटो ६० दे. अरस्तू ६० ४. अरस्तू और थैनस के बीच का क्रय रे ५. डायोनीसिअस थैक्स है & ६. सूरोप में भाषा के प्राचीन अध्ययन का अंतिम युग ४१ जि] भाधुनिक शहद (क) प्रत्य-युग , १. विलियम जोॉस पद २. हेनरी थामस कोलबू क शरद दे. फीड्िख वान इलोगल है ४. अडोल्फ डन्ल्यु० श्लेगल छू ५. विल्हेल्म फ्रॉन हम्बोल्डट के ६. रेज्मस रैक्स ७ याकोब प्रिम कै ८' फ़ान्त्स बॉप ९. पश्च पर एक हप्टि शा




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now