पंचायती राज संस्थाएँ अतीत, वर्तमान और भविष्य | Panchayati Raj Sansthayein Atit, Vartman Aur Bhavishya

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Panchayati Raj Sansthayein Atit, Vartman Aur Bhavishya by महेन्द्र कुमार मिश्रा - Mahendra Kumar Mishra

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about महेन्द्र कुमार मिश्रा - Mahendra Kumar Mishra

Add Infomation AboutMahendra Kumar Mishra

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
10 पंचायतो राज संस्थाएँ : अतीत वर्तमान और भविष्य ऑटो रिक्शा योजना अनुसूचित जाति फे ऑटो रिवशा के ड्राइविंग लाइसेंसधारियों को ऑटो रिक्ता दिलवाकर स्थाई आय का साधन उपलब्य करवाया जाता है। घोष योजना के लिए भाव व्यक्ति इस योजना के भी पात्र होंगे। ऑटो रिक्शा हेतु इकाई लागत 55,000/- रुपये है। ऑटो रिक्शा के लिए निगम को ओर से 25 प्रतिशत तक मार्जिन मनी ऋण एवं 6000- २. अनुदान दिया जाता हं, रौप राशि बैंक द्वारा ऋण के रूप में उपलब्ध करवाई जाती है। स्काइट योजना इस योजना के अन्तर्गत गरीबी की रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले अनसूचितर जाति के 18 वर्ष से 15 वर्ष तक को आयु के व्यक्तियों को तथा 45 वर्ष तक की विघवा/ अपाहिजों को विभिन्‍न व्यवसामों में प्रशिक्षण दिलवाया जाता है। कुछ विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रमों को छोड़कर साधारणतया इन प्रशिक्षणार्थियों के लिए किसी प्रकार की योग्यता निर्धारितनहीं है। प्रशिक्षण की अधिकतम अवधि 6 महा होती है। प्रशिक्षण मान्यता प्राप्त संस्थाओं के द्वारा दिलबाया जा सकता हैं। यह योजना अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी लागू है। प्रशिक्षणार्थियों को प्रतिमाह निम्न रूप में भत्ता देय होता है- 1... वृत्तिका (स्टाई फण्ड) 350/- रु, प्रतिमाह 2... संस्था की मानदेय 200/- ₹ प्रतिमाह प्रति प्रशिक्षणार्थी 3. कच्चा माल 75/- ह. प्रतिमाह प्रति प्रशिक्षणार्थी 4, टूलकिट कुल 800/-₹ प्रति प्रशिक्षणार्थी अस्वच्छ कार्य परे मुक्त हरिजनों की पुनर्वास योजना मला दने जसे पिनि कायं मे लगे हृ हर्यन को मुफ्त कराने हेतु ठन विभिन व्यवसायो में प्रशिक्षण दिलवाकर रोजगार की वैकल्पिक व्यवस्था कर मदद की जाती हैं! 15 से 50 वर्ष तक को आयु बर्ग के युवक-युवतियों को आवश्यक प्रशिक्षण दिलवाने हेतु कोई शैक्षणिक योग्यता निर्धारित নহী है। इस कार्य मेंलगे हुए युवक-युवत्तियों का सर्व नगर पालिका अथवा नगर परिषद द्रा किया जाता है| परियार के सिने भी व्यक्ति इस धप में लग हते हैं, उन्हें अलग से इकाई मानते हुए लाभान्वित किया जाता है। त्रण आना पत्र भागरपालिका, नगर परिषद ह्ाग्य उपलब्रध करवाया जाता हैं एवं विधिल व्यवमायों हेतु 4 प्रतिशत व्याज दर पर यंक दवार ऋण उपलब्ध 'करवायाजाता है।इस हेतु के अतुदान दर 10,000/- रु. होती है । इस योजना में चयनित स्वयं हीं पात्र होते ৪ । যি হাক घरिवार में दो व्यक्ति कार्य में लगे हुए लें लो दोषों को समाव रूप से अलग-




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now