शतकत्रयम् | Shatkatrayam

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : शतकत्रयम् - Shatkatrayam

एक विचार :

एक विचार :

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

महाराज भर्तृहरि लगभग 0 विक्रमी संवत के काल के हैं
ये महाराज विक्रमादित्य के बड़े भाई थे और पत्नी के विश्वासघात
के कारण इनमे वैराग्य उत्पन्न हुआ

Read More About Bharthari




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now