एकादशोंपनिषद भाग 1 | Akadshopnishad Bhag 1

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Akadshopnishad Bhag 1  by प्रो. सत्यव्रत सिद्धांतालंकार - Prof Satyavrat Siddhantalankar

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about प्रो. सत्यव्रत सिद्धांतालंकार - Prof Satyavrat Siddhantalankar

Add Infomation About. Prof Satyavrat Siddhantalankar

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
प्रकाशक विजयकृष्ण ऊखनपाऊ एण्ड कम्पनी, “विद्या-विहर, ४ वलबीर ऐवेन्यू, देहरादून वाद मद र्‌-पएणए-9 न 09 ना न्य हमारे प्रकाशन (क) शिक्षणालयों के लिये शिक्षा-मनोचिज्ञान प्र्द्छ शिक्षा-शास्त्र ४०० व्यावहारिक मनोविज्ञान ४०० प्रारभिक समाज-शस्त्र ३४० भारतीय सामाजिक सगठन ३५४० समाज-शास्त्र तथा वाल-कल्याण ५ ०० समाजशास्त्र के मूल तत्त्व १५०० समाज-कल्पाण तथा सुरक्षा ९०० भारत की जन-जातिया तथा समस्धाए १२४५० सामाजिक मानवशास्त्र १२ ५० सामाजिक विचारों का इतिहास १२५४० (ख) सास्क्ृतिक प्रकाशन १२ थारावाही हिन्दी मे एकादशो- पत्िपदू-भाष्य (प्रथम भाग--- ईश से छान्दोग्य) १५०० धारावाही हिन्दी मे एकादशो- पनिषद्‌-भाष्य (द्वितीय भाग--. बृहदारण्यक तथा ए्वेताश्वतर) १० ०० १४ धारावाही हिन्दी में गीता-भाप्य १२ ०० १५ वेदिक-सस्क्षति के मूल-तत्त्व ६०० १६ नब्रह्मचर्य-सन्देण ४ ४० १७ स्त्रियों की स्थिति ४०० १८ नानी की कहानिया ३०० प्राप्ति-स्थान विजयक्ृष्ण लखनपाल एण्ड कं॑० विदया-विहार, ४ घलबीर रोड, देहराडून “0. इन मुद्रक न्यू इृष्डिया प्रेस कनाट सरकस नई बिल्ली




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now