सिंघी जैन ग्रंथमाला कुवलयमाला भाग 1 | Singhi Jain Ghrant Mala Kuvalayamala Bhag 1

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : सिंघी जैन ग्रंथमाला कुवलयमाला भाग 1 - Singhi Jain Ghrant Mala Kuvalayamala Bhag 1

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about आदिनाथ नेमिनाथ उपाध्याय - Aadinath Neminath Upadhyay

Add Infomation AboutAadinath Neminath Upadhyay

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
आभार - प्रदर्शन प्राकृत भाषाकी इस अरुत महाकथाके प्रकाशनमें जो मुद्रण संबन्धी व्यय हुआ है, उसका अर्ध भाग, भारत सरकारने देनेकी कृपा की है। तदथथ सरकारके प्रति हम अपना धन्यवाद: पूर्वक सादर क्ृतज्ञ भाव प्रकट करना चाहते हैं । - मुनि जिनविजय




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now