वैदिक साहित्य - १ | Vaidik Sahitya - 1

1 1/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Vaidik Sahitya - 1  by बलदेव उपाध्याय - Baladev upadhyay

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about बलदेव उपाध्याय - Baldev upadhayay

Add Infomation AboutBaldev upadhayay

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
ण्प्ठ चतुदेश परिच्छद राजनैतिक जीवन ४६९-४७७ उरजिसत्ता ४६९; समिति ४७० कक ४७१; रतनी ४७३; अभिषेक का महत्व ४७३; शासन-पद्धतियाँ ७५ | पश्चद्श परिच्छद धार्मिक जीवन ४७८-५२० भारोपीय घर्म ४७९; भारत पारसीक युग का धर्म ४८०, देवता का रवरूप ४८२; वेद में अद्देत तत्व प८४, ऋत ४८६३ (२९) देव परिचय ४८९-५२० युनस्थान देवता वरुण ४८९, पूपन्‌ ४९४; मित्र ४६४; सवितत ४९४, सूर्य ४९६, विप्णु ४६७, अश्विन ४९८, उपा ५०० | झन्तरिक्ष-स्थान देवता इन्द्र ५०२, लपां नपात्‌ ५०६, प्जेन्य ५०७, आप: ५०७, रुद्व ५०७, मरुतः ५१६ । प्रथ्वीस्थान देवता अग्नि ५१७, वृद्दस्पति ५१८, सोम ५२०१ (३) यज्ञ संस्था ५२१-५२८ अभिद्दोत्र ५९२, दूर्श पूर्णमास, आश्रयण, 'चातुर्मास्य; निरूढपशु--५र२९ सौ न्नामणी, पिण्डपितू यज्ञ भ्र२३ सोम-याग ५ररे-५२८ एकाइ; जद्दीन, सच्न; मसि्ोम, उक्प्य, पोडशी ५र४ लतिरात, ज्योतिष्टोम, अत्यम्िष्टोम, चाजपेय, आापोर्याम, ५२४५ । स्वर की करुपना ५२५, उपसंदार ५२८ ॥




User Reviews

  • Acharya D.L.

    at 2019-03-30 19:33:26
    Rated : 1 out of 10 stars.
    "यठद"
    आचार्य प्रथम वर्ष के लिए द्वितीय प्रश्न पत्र की कोई पुस्तक नही है कृपया हो तो उपलब्ध कराने का कष्ट कराने। 9571636270 आचार्य सुरेश
Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now