हिंदी साहित्य का वृहत इतिहास | Hindi Sahitya Ka Verihat History

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Book Image : हिंदी साहित्य का वृहत इतिहास  - Hindi Sahitya Ka Verihat History

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about डॉ. नगेन्द्र - Dr.Nagendra

Add Infomation About. Dr.Nagendra

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
२ ३ शझलंकारवादियो द्वारा रस का भ्रलंकार में श्रंतर्भाव रद ४ रसवादियों तथा कुततक द्वारा श्रलकारवादियो का खडन ४१ ४ ध्वनि सप्रदाय झ्ौर रस ४३ १ ध्वनिवादी झ्राचार्य श्र रस दे २ रसे ध्वनि का एक भेद है ३ रसध्वनि ध्वनि का सर्वोत्कृष्ट भेद | ४ श्रलकार सप्रदाय ४७ १ उपक्रम ४७ २ झलकारवादी भ्राचाथ ४9 ३ ध्वनिवादी झाचा्ं आर अलकार ४ ४ अलकार का लक्षण ५ की सख्या ६ झलकारो का वर्गीकरण श१ ७ अलकारों के प्रयोगों मे झौचित्य रे ८ श्रलकार सप्रदाय और हिंदी रीतिकालीन श्राचायें कै ६ रीति सप्रदाय १ रीति की परिभाषा श्रौर स्वरूप द्० २ रीति सिद्धात का अ्स्य सिद्धातो के साथ सबध पु झ रीति तथा भ्रलकार पु आ रीति श्रौर वक्रीक्ति कै इ रीति भ्ौर ध्वनि ई रीति भ्ौर रस ३ रीति सिद्धात की परीक्षा ६्प्र ४ रीति के मूलतत्व ६७ ५ रीति के प्रकार द्ट ६ बाह्य प्राधार ७१ ७ वक्रोक्ति सप्रदाय छ्र्‌ १ कुतकप्रस्तुत वक्रोकति सप्रदाय ७७६ २ वक्रोक्ति श्र रस ७€ ३ रस भ्ौर वक्रोक्ति का सबध घ्० ४ झलकार सिद्धात और वक्रोक्ति सिद्धात प्पै अर साम्य ८१ आरा वेषम्य ८्प्‌ ५ वक्रोक्ति सिद्धात और ध्वनि सिद्धात प्र अर भेदप्रस्तारगत साम्य पद । ६ वक्रोक्ति और व्यजना पर 9 हे. ८ वक्रोक्ति सिद्धात की परीक्षा प्प्र ८ ध्वनि सप्रदाय ८७ १ पूर्वेवृत्त घ७ २ ध्वनि का अर्थ और परिभाषा घ्प ३ ध्वनि की प्रेरणा स्फोट सिद्धांत ४ ध्वनि की स्थापना ६२




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now