फलितज्योतिष विवेचनात्मक - बृहत्पराशर - समीक्षा | Falitjyotish-vivechnatmak-brahtparashar-samiksha

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
शेयर जरूर करें
Falitjyotish-vivechnatmak-brahtparashar-samiksha by गिरधारी लाल गोस्वामी - Girdharilal Goswami

एक विचार :

एक विचार :

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

गिरधारी लाल गोस्वामी - Girdharilal Goswami के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
5 सपा 98 प्ाा66 हरिव1018510304 1010 2 तट्पा00.. छंद बॉत (08 0८६ ऐंटताएाइ कटा 0 (0 9८ 01200 छि एंड सिट 2ठपंबवठ एडावड028 (81. 85 0 960८0- एंएट 0 2 छवि (0 छंट४८०0 8. इटाइट ए इटर्टाइड प्रीदाट एछणा उ्ताशडीाक8- इ0छट् छुहघ8 बा टद्वा। दि (९ एंट5(छ८00 01 एंदाएणाइ प्फ़ट &्ााह 5010 अंडे रा्रधातन 1 बच शडप्प्ठ एप्ाए8 85 फट तै८८जठींप्रह 0 एडपििफिंए8218 हनी वी 8010771 ८8 चजव5 कपपडिठपा छह 81815101 एि3850873.. कत8(8४8 0808 इ८४८815 फिट थिाएं।फ धिंडणए 0 एडाव5080. 115 ८४८०0 081. रिप्रहत5802182 परिधि कं हट 5८८1 ० परा्शतठीए फफागाइ 800 धहफ्णाटा। 0 पडिपाए फफ्ावप8 200 01007 0 टि84ा- 50... 2८०० (० 01405 फ 1111 58508 रिप्ाक्रडए 8 क83 2 ट्राटव। 60001 0 है 19 58518. 5 फट ८८०00 ६6 197. हां एता8508132 5 घाव5(61 04 ठए1४८त३ (फट01281 50ंदाट्ट5 901 ८ गड इ86 (०9 96 (06 500 0 506 00८1 इरांडिपि | (घटा 0ा८ 5धलाए5 0 9८ 1001001 10 80651 प81 256. 0 उजणींडि। दा घावडटा 0 ैजप्राशट्तेव पा (पट 5819 85169. एड 0 पी 900द--ऐरे2ट्ाएए 2081 छिव50 व त्उला9िट्तत (पिह्ट 1) ९5 0 19८ 00०८ 10 5 पाती पाला हि०59 (छिंिठीं छण८१1086ती30 बट घाट 1.90 (राषिंगी पा. 5) #तंठों (गे 206 छा (उट1९त) पट 85 3150 पाटा0प९0 1७६ प्रा६ 0 115 एणाटए(81015 (८ िसवानडपदणि डिविएत ह डिपाछव0 पा च085 58ते30807 5८58 50८द्ी हूं दा0+0 10 फैट 8. ए0शा0 ८901 0 छ1051. शिवा दाव पाती जीना ह051 फ्35 स्वाहा कि. 1927. 5008 वीं पा ) 2) धनी 8. 1९वठराड पाता. 50101 आटाधणि 5 (फ़0 (छिएट 0. धिव50011 शक्षाटी# 30 85031 206 छापा. शधिरडीकां पवडडा। वि व. 9610-01 प्र्ताट 2प्राणाइड। . 1प्रतांा उ5010265. .. एव फिद (७० फिट 0१0 1.0 एव 15 बचा उणट 800. 985 06८0. सांएटीए ध्णावतालाषटिएं पूकृणा 97 ८2८10 85 8 हाट 900४ ० इधटिटात्ट 5४ 5 0(ए0टा5 / 9०0४ एव पीट तट 01 फेषिडा शिवडावदां उंड धा09/ 10 फिक्स 9टटा फप्रणाडटत 9४ 5ांठवा इकां४ 1.91 81 (रण उस एाटप5 डिणाएनए फा। 58 1914... 1 15 ताचंटेटत पाठ (७०0 छा 15 गुट पिंड पुर ए0एसिां05 हिए. लीउफ हाई पट 900 इटश्ट्तॉ 131 51 ० (टडट टॉपफुषटाई सटाद एणटटॉट्त पा पपिटा। छॉवच्टड शा (स्‍5ट 9टाठ छिपाएं (0 95 फ़मा | तैवाउडट6 . उप उड5 डिश 500 0 5ंतका फुपणीडट्त पिंड छठ 0 दा. एज ८८ णिगा पट फिड दवा टि ०पद्िा5 बे प6 590 ६तिड (#्टाध्टडी ही पड तीन एणी। 10 उठक 85 0. ५097 जाए 0 65८ नटाइटड 9टीणाए (0 फिट एंड 900 400 फठफ४ पराउव गण (लावा पवच्ट एिटटा उतठ८्ठे छछ आंतीव्ा 01 ्ाप्रॉटा शि ितिएट #्टाइटड शिणध जॉधटा 90.5 है 0 फरविट्ट 2 टटिाटाटट व दाउतेट ऐ द्राउत 13 सती टजोटप्रउपाट्ट बडे ह फित5 0 पि0टश्टा फिल्‍्टा इटध्ट्यॉटत दवा 1८ टाइट पड र्टिटा। चिट दिए दि हाय डिटीविच्त व पे शिलटणिट #01 दृर्णीट टघाएट (0 अउक (विज एिट पिंड फउ औवर्त 9िटटा कावटिक छ] उ्लावडीकात




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :