मध्यप्रदेश का इतिहास | Madhya Pradesh Ka Itihas

Book Image : मध्यप्रदेश का इतिहास  - Madhya Pradesh Ka Itihas

लेखकों के बारे में अधिक जानकारी :

रायबहादुर - Raybahdur

No Information available about रायबहादुर - Raybahdur

Add Infomation AboutRaybahdur

हीरालाल - Heralal

No Information available about हीरालाल - Heralal

Add Infomation AboutHeralal

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
5३ थी इस कारण श्राप वहाँ एक्स्ट्रा असिस्टेंट कमिश्नर बनाकर मेज दिए गए। वहाँ आपने कड़ी मेहनत से जनता को सेवा की । श्रभी यह कार्य समाप्त भी न हो पाया था कि सन्‌ १९०१ की मनुष्य-गणना का समय भरा गया। छत्तीसगढ के कमिश्नर ने श्रापका रायपुर जिले फी ममुष्य-गणना के लिये विशेष रूप से माँग लिया यह काम पूरा देते ही श्राप मध्यप्रदेश की मनुष्य गणना के भ्रसिस्टेंट सुपरिटेंडे ठ बना दिए गए । कई मापाओं के जाता होने श्ार मध्यप्रदेश की भाषाओं जातिये तथा धर्मों की श्रमिज्ञता रखने के कारण आपको यह पद मिला था । घ्रापकी बदली यहाँ से बिलासपुर के एक्स्ट्रा असिस्टेंट कमिश्नर को पद पर हुई कितु शीघ्र दी फिर गजेटियर का काम करने के लिये श्राप नागपुर घुला लिए गए | यहाँ पर झापने बडे मदस्व का काम किया । गजेटियर का काम पूरा करने के उपलबंय में सरकार ने श्रापको रायबद्दादुर बनाया । नागपुर से श्रापका तबादला दे तीन स्थानों में हुमा रत मे १७११ फी मनुष्य गएना का फायें संभालने को शाप फिर नागपुर चुल्ाए गए | एक चार आप सेडाघाट के जलप्रपात झार सगमरमर की चट्टानों फी शोभा देसने के लिये श्रपने एक मित्र के साथ नाव पर रवाना हुए । इसी समय कद्दीं से एफ दर्द भरी पुकार सुन पडो वचाओओ मरे । ्रापने चारों ओर देसा ते मालूम टुभना कि कुछ लोगों पर मघुमक्सियाँ आक्रमण फर रदी हैं कर ये लोग श्पने बचाव के लिये पानी में हैं। जदाँ की यद घटना है वहाँ नर्मदा गहरी थी । पीड़ितों की पुझार सुनकर झापने प्राणों की परवा न करके उन लोगों फो बचाने का प्रयदन किया । मिन्न को तो उन्होंने किनारे पर उत्तार दिया हार स्वय ब्दाँ नाव ले गए जहाँ पर वे लाग कष्ट पा रहे थे शरीर उनका उद्धार कर लाएं । इस धडना से ज्ञात दागा फि उनके हृदय में कितनी सद्दानुभूति थी | ाप पार देने को भ्रच्छा न समझे थे । झापको इसका कट अनुभव हो चुका था । एक बार श्रापकें एक वीमार मित्र को रुपये की




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now