संगीत परिचय भाग 1 | Sangeet Parichaya Part I

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
शेयर जरूर करें
Sangeet Parichaya Part I by जीवनलाल - Jivanlal

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

जीवनलाल - Jivanlal के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
. 7० सम उत्तर-पहली ताली दूसरी ताली । मर कक दा । ने एक दो तीन चार. पांच से सात आठ १. ३. ४ भू. ६ 9 ध् खाली तीसरी ताली ह । छ ८ 3 को दस ग्यारद यारद तरद चादर पर्द्रहू सोलह १२ दे १४ रे १६ ६ ० प्रशन-तीन ताल के तवें के चाल ताली खाली सहित उचारण करो सम. उत्त--पदली ताली दस ताली । रद २ था. घिन.. घिन.. | था. घिन. घिन.. था ५ न उ ४. भ ध्प खासी तीसरी तालों ० डे यथा विन न दा | ता घधिन. घन घा २०... डे १३. ९४ ४. ९६




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :