सिद्धान्ताचार्य पंडित कैलाशचन्द्र शास्त्री अभिनंदन - ग्रन्थ | Sidhantacharya Pandit Kailash Chandra Shastri Abhinandan Granth

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
शेयर जरूर करें
Sidhantacharya Pandit Kailash Chandra Shastri Abhinandan Granth   by नंदलाल जैन - Nandlal Jainबालचन्द्र जैन - Balchandra Jain

लेखकों के बारे में अधिक जानकारी :

नंदलाल जैन - Nandlal Jain

नंदलाल जैन - Nandlal Jain के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

बालचन्द्र जैन - Balchandra Jain

बालचन्द्र जैन - Balchandra Jain के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है | जानकारी जोड़ें |

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(देखने के लिए क्लिक करें | click to expand)
अनुक्रम आदशोर्वचन अभिवादन और संस्मरण अभीप्सा मार्गदर्शन कविता कलाशचन्द्रो जयतात्सुधीन्द्र भौतिक काया पर औढी चादरमे रच न मोल बन्दन शत अभिनन्दन सद्भावना सन्त सरस्वती पुत्र सहपाठीके प्रति मैया कैलाशचन्द्र भूजी-बिसरी यादें गवेषक पड़ितजी व्यक्ति नही सस्था धर्मनिष्ठ पडितजी अभिनन्दनीय पण्डितजी मूरधन्य घिद्वान्‌ निर्लोभवृत्ति प ितकी विवशता एक खरी बात जैन समाजके सुमेरु आदर्श कीतिस्तम्भ विनम्रता और स्वाभिमानके ओजसे मडित पड़ितजी शत शत वन्दन कोटि-कोटि अभिनन्दन आचार्य समस्तभद्रजी महाराज आचार्य श्री विमलसागरजी महाराज आचार्य श्री विद्यासागरजी महाराज यशोदेव सूरिजी भट्टारक चारुकीतिजी भट्टारक लक्ष्मीसेनजी युवाचार्य महाप्रज डॉ० श्री कस्तूराज भण्डारी निर्मल आजाद कमलकुमार जैन कल्याणकुमार शशी हंजारीलाल काका पद्मश्री सुमतिबाई शाह ब्र० जगन्महोनलाल शास्त्री विद्याभूषण के ० भूजबली शास्त्री हरिर्चन्दजी भाईजी डॉ० जगदीदचन्द्र जैन पी० एन० कोठेकर कुलपति उज्जैन डॉ० प्रभदयाल अग्निहोत्री प० दलसुख भाई मालवणिया अगरचन्द नाहटा नाधूलालशास्त्री प० गोविन्दराय जैन डॉ० कछेदोलाल जैन प्रो० श्रीचन्द्र जैन माणिकचन्द्र नाहर जयकिशनदास खडेलवाल बाबूलालशास्त्री फगीश शा टूल €६ ७५ € .दी रण की ८ री न छ ० न . ने हि ६. ६ आग री .£ ६ ०-४ ४. /0 0 न अं ७




User Reviews

अभी इस पुस्तक का कोई भी Review उपलब्ध नहीं है | कृपया अपना Review दें |

अपना Review देने के लिए लॉग इन करें |
आप फेसबुक, गूगल प्लस अथवा ट्विटर के साथ लॉग इन कर सकते हैं | लॉग इन करने के लिए निम्न में से किसी भी आइकॉन पर क्लिक करें :