धर्म - प्रज्ञप्ति | Dharma Pragyapti

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
श्रेणी :
Dharma Pragyapti by आचार्य तुलसी - Acharya Tulsi

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about आचार्य तुलसी - Acharya Tulsi

Add Infomation AboutAcharya Tulsi

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
[ ३ | साइज के ८०० पृष्ठों के वृहदाकार में प्रकाशित किया जा चुका है। आजतक प्रकाशित दश्वैकालिक के संस्करणों में জন- अजैन विद्वानों ने उसे मुक्त रूप से सर्वोच्च कोटि का स्वीकार किया है। मुद्रण कार्य : प्रस्तुत ग्रत्थ का मुद्रण कार्म श्री मोहन लालजी बाँठिया 'चन्रुल' की देख-रेख में हुआ है। स्वास्थ्य विषयक उत्कष्ट बाधाओं के बाबजूद भी उन्होंने इस कार्य को जिम्मेवारी ददता से निभायी है । इसके लिए हम उनके प्रति हार्दिक कृतता ज्ञापन करते है । पाण्डुलिपि-प्रणयन : पाण्डुलिपि का प्रणयन आद साहित्य संघ द्वारा हुआ है। पाण्डप्रति महाप्तभा को प्रकाशनार्थ प्रदान कर संघ ने जिस उदारता का परिचय दिया है उसके लिए यह समिति अपनी हादिक क्तज्ञता ज्ञापन करती है । अर्थ-व्यवस्था : इस आगम के मुद्रण-खर्च का भार श्री रामकुमारजी सरावगी की प्रेरणा से श्री सरावगी चेरिटेबल फण्ड, कलकत्ता, जिसके श्री प्यारेलालजी सरावगी, गोविन्दरामजी सरावगौ, सञ्नजकरमारजी सरावभी एवं कमलनयतजी सरावगी ट्स्टी है, ने वहन किया है । श्री सरावगी चेरिटेबर फण्ड का यह आ्थिके अनुदान स्वर्गीय ॒स्वनामधन्य श्रावक महादेवलाछ्जी सरावगी एवं




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now