किर्तिलता और अवहट्ठ भाषा | Kirtilata Aur Avahatth Bhasha

5 5/10 Ratings.
1 Review(s) अपना Review जोड़ें |
Book Image : किर्तिलता और अवहट्ठ भाषा  - Kirtilata Aur Avahatth Bhasha

लेखक के बारे में अधिक जानकारी :

No Information available about शिवप्रसाद सिंह - Shivprasad Singh

Add Infomation AboutShivprasad Singh

पुस्तक का मशीन अनुवादित एक अंश

(Click to expand)
| १५ ] ४-कीतिलछता की नई प्रतियाँ और संजीवनी व्याख्या. १७७-१६१ तीन नई प्रतियाँ--स्तंभतीथ्थें की प्रति के ही रूपान्तर--पाठ और अर्थ का नया प्रयत्न--संजीवनी व्याख्या--पाठ गत अशुद्धियाँ--अर्थ गत प्रत्यवाय । १०-कीर्तिखता के आधार पर विद्यापति का समय १६२-१ ६८ लच््मणसेन सम्बत्‌ू--तिथिकाल का निर्धारण--डॉ० सुभद्र झा की स्थापनाएँ उनकी अप्रमाणिकता--लखनसेनि का हरिचरित्र और उसमें विद्यापति का उद्धरण । ११-कीर्तिकता का साहित्यिक मूल्यांकन १६६-२०९ विद्यापति का व्यक्तित्व--कीतिलता का काव्य रूप--ऐतिहासिक चरित काव्य और कथा--कहाणी का तात्पयं--कथानक रूदिर्या- कथा वर्णन--यथार्थता, अतिशयोक्ति का अभाव । १२-कीर्तिछता का वस्तुबणन २१०-२२४ कवि समय और वस्तु वर्णन की रूढ़ि परिपाटो--मध्यकालीन नगर-- ` ऐतिहासिक धारणाएँ--हाट वर्णन--पृथ्बीचन्द्र चरित में चौरासी हाटों का उल्लेख--विभिन्न वस्तु-वर्णन सम्बन्धी शब्द--उपवन--दरवार-- दौरधोल--दारिगह--वा रिगह---तिमाजगह-- षो रम गह --- प्रासाद--- प्रमदवन--पृष्पवाटिका--क्ृत्रिम नदी---क्री डाशंल--धा रागृह--श्वृंगार संकेत---माधवी मण्डप--विश्राम चोौरा--चित्रशाली--खट्वाहिडोल, कुसुमशय्या-प्रदीपमाणिक्य---चन्द्रकान्त शिला--चतुस्समपल्लब-वेश्या- हाट--अलका-तिलका--अश्ववर्णन--हस्तिसेना---सैन्य संचरण--युद्ध वर्णन । १३-कीर्तिकता--मूल पाठ, व्याख्या, टिप्पणियाँ, संस्क्रृत टीकां ३२५-३५० १४-शब्द-सूची ३५१ १५-सहायक साहित्य




User Reviews

No Reviews | Add Yours...

Only Logged in Users Can Post Reviews, Login Now